Sports

गुवाहटी : छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम ने अपना शानदार जारी रखते हुए 51 किग्रा वर्ग में एशियाई चैंपियनशिप की कांस्य विजेता निखत जरीन को गुरुवार को 4-1 से पीट कर गुवाहटी में चल रहे इंडिया ओपन मुक्केबाजी टूर्नामेंट के दूसरे संस्करण के फ़ाइनल में प्रवेश कर लिया। पुरुषों में अमित पंघल और शिवा थापा ने भी फाइनल में प्रवेश कर लिया हैं जबकि गौरव सोलंकी और गौरव बिधूड़ी को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा और कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। भारत के 31 पुरुष और 26 महिला मुक्केबाजों ने देश के लिए टूर्नामेंट में 57 पदक पक्के कर दिए हैं। 

मैरीकॉम ने पिछले टूर्नामेंट में 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता था लेकिन इस बार वह 51 किग्रा के नए वजन वर्ग में उतरी और उन्होंने आक्रामक प्रदर्शन करते हुए जरीन को पीट दिया। मैरीकॉम का फ़ाइनल में वनलाल दुआती से मुकाबला होगा जिन्होंने ज्योति को 3-2 से हराया। पूर्व विश्व यूथ चैंपियन सचिन सिवाच ने 52 किग्रा श्रेणी में कामनवेल्थ खेल पदक विजेता गौरव सोलंकी को गुरुवार को हरा कर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली। साथ ही एशियन खेल में पदक विजेता अमित पंघल ने 52 किग्रा श्रेणी और चार बार के एशियन चैंपियनशिप पदक विजेता शिवा थापा ने 60 किग्रा श्रेणी में अपने प्रतिद्वंद्वियों को हरा कर फाइनल में प्रवेश किया।

सचिन मुकाबले में विश्वास से भरे हुए दिखे और उनके दमदार मुक्कों का जवाब गौरव नहीं दे सकें जिसकी वजह से वह फाइनल में प्रवेश नहीं कर सके। वह फाइनल मुकाबले में एशियाई चैंपियनशिप विजेता तथा स्ट्रैंडजा कप विजेता अमित से स्वर्ण पदक के लिए टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में भिड़ेंगे। गीबी मुक्केबाजी टूर्नामेंट में कांस्य पदक जीतने वाले सचिन इस बार अपने पदक का रंग बदलने के इरादे से रिंग में उतरेंगे।        

शिवा थापा का 60 किग्रा के फाइनल में गत चैंपियन मनीष कौशिक से मुकाबला होगा। सेमीफाइनल में शिवा ने पोलैंड के डी क्रिस्टियन शेपंस्की को 5-0 से और कौशिक ने अंकित को 5-0 से हराया लेकिन गौरव बिधूड़ी को थाईलैंड के चतचई डेचा बुत्दी से हार कर कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। बिधूड़ी को 0-5 से हार मिली। दीपक 49 किग्रा में वॉकओवर मिलने से फाइनल में पहुंच गए जबकि कविंदर सिंह बिष्ट ने मदनलाल को 4-1 से हरा कर फाइनल में जगह बनाई। आशीष कुमार भी 75 किग्रा के फ़ाइनल में पहुंच गए।

.
.
.
.
.