Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर और मुख्य खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी ने वर्ल्ड कप में धीमी पारियां खेलने के बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ 56 रनों की नाबाद शानदार पारी खेलते हुए आलोचकों का मुंह बंद किया। अब भारत का अगला मैच 30 जून को इंग्लैंड के खिलाफ होगा और इससे पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने धोनी की बल्लेबाजी को लेकर उठ रहे सवालों पर विराम लगाने की कोशिश करते हुए कहा कि हमें उन पर विश्वास है और वह हर बार टीम के साथ खड़े रहे हैं। 

इंग्लैंड से होने वाले मैच से पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोहली ने कहा, 'हमें उन पर विश्वास है और वह हर बार टीम के साथ खड़े रहे हैं, मैं इस मामले में ज्यादा कुछ नहीं देख रहा हूं और जिस तरह से टीम चल रही है उसे देखकर हम बहुत खुश हैं।' इससे पहले वेस्टइंडीज के साथ मैच के बाद कोहली ने धोनी की तारीफ की थी और कहा था, धोनी अच्छी तरह जानते हैं कि उन्हें मैदान के बीच में क्या करना है, किसी भी खिलाड़ी का एक दिन बुरा हो सकता है। जब उनके साथ ऐसा हुआ तो सब उसके बारे में चर्चा करने लगे। लेकिन इसके उलट ड्रेसिंग रूम में हम हमेशा उनका समर्थन करते रहे हैं। उन्होंने हमारे लिए बहुत सारे मैच जीते हैं।'

विराट ने कहा था, उनके जैसे खिलाड़ी के टीम में होने की सबसे अच्छी बात यह है कि वो ये बात अच्छी तरह जानते हैं जब आपको अंत में अतिरिक्त 10-15 रन बनाने हैं तो ऐसा निचले क्रम के बल्लेबाजों के साथ किस तरह किया जा सकता है। आज भी उन्होंने अंतिम ओवर में ऐसी ही कोशिश की और दो बड़े छक्कों के साथ पारी का अंत किया। ये ऐसी चीज है जो एक टीम के रूप में हमारा विश्वास बढ़ाती है। हालांकि हमारा लक्ष्य 250 रन का था लेकिन हम धोनी की वजह से 270 रन के करीब पहुंचने में सफल हुए। गौर हो कि धोनी ने वेस्टइंडीज के साथ खेले गए पिछले मैच में धोनी ने 61 गेंदों पर 91.80 की औसत से 56 रन बनाए थे जिसमें 2 छक्के और 3 चौके शामिल थे। भारत ने इस मैच में वेस्टइंडीज को 269 रनों का लक्ष्य दिया था जिसके जवाब में उतरी विंडीज टीम 34.2 ओवर में 145 रन ही बना पाई और 125 रन से मैच हार गई थी। 

.
.
.
.
.