Sports

नई दिल्ली : विश्व के नंबर एक खिलाड़ी और 20 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने खुलासा किया है कि उन्होंने पिछले महीने ऑस्ट्रेलिया में हिरासत के दौरान खुद को ‘शक्तिहीन' महसूस किया था। उल्लेखनीय है कि जोकोविच द्वारा टीकाकरण की स्थिति घोषित न किए जाने चलते ऑस्ट्रेलिया के आव्रजन मंत्री एलेक्स हॉक ने जोकोविच का वीजा रद्द कर दिया था। 

इसके चलते जोकोविच को ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश से वंचित कर दिया गया था और आव्रजन बंदी में सात दिन बिताए थे। इतना ही नहीं वह ऑस्ट्रेलियन ओपन में भाग नहीं ले सके थे। एक साक्षात्कार में जोकोविच के हवाले से कहा गया कि यकीनन यह सुखद नहीं था। मैं यहां बैठकर उस डिटेंशन सेंटर की परिस्थितियों के बारे में शिकायत नहीं करना चाहता। मैं सात दिन वहां रहा। हां, इस दौरान मुझे शक्तिहीन महसूस हुआ। जब मैं वहां (ऑस्ट्रेलिया) पहुंचा तो मुझे तीन-चार घंटे अपने फोन का उपयोग करने की अनुमति नहीं थी। 

उन्होंने कहा, ‘रात के 1 बजे से सुबह 9 बजे तक मुझे नींद नहीं आई, क्योंकि मुझसे हर 30 मिनट में पूछताछ हो रही थी। मैरे कई साक्षात्कार हुए। वे शुरू हुए और फिर रुक गए और फिर शुरू हुए। फिर मैं उस व्यक्ति के वरिष्ठों अधिकारियों से बात करने की प्रतीक्षा करता रहा और फिर वह वापस आ जाता और यह पूरी रात चलता। 

.
.
.
.
.