Sports

स्पोटर्स डेस्क: साल 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट खेलने के बाद से भारतीय क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे भारत के दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर ने आखिरकार सभी को चौंकाते हुए क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। उन्होंने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। गौतम गंभीर ने अपने अधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट कर ये बड़ी जानकारी सभी के साथ साझा की। अपने ट्वीट के साथ उन्होंने करीब 12 मिनट की एक वीडियो भी पोस्ट की, जिसमें उन्होंने टीम इंडिया के तमाम खिलाड़ियों, कोच, BCCI और अपने फैन्स का शुक्रिया अदा किया।

अपने ट्वीट में गंभीर ने लिखा- भारी मन से ऐलान कर रहा हूं

अपने ट्वीट से संन्यास की घोषणा करते हुए गौतम गंभीर ने लिखा, “ सबसे मुश्किल फैसले भारी मन से लिए जाते हैं और आज मैं भारी मन से ये ऐलान कर रहा हूं, जिसके ख्याल मात्र से ही मैं पूरी जिंदगी डरता रहा”।

गंभीर बोले- आंध्र प्रदेश के खिलाफ रणजी मैच होगा करियर का आखिरी मैच

Gautam Gambhir

गौतम गंभीर ने अपने ट्वीट के साथ एक वीडियो लिंक भी शेयर किया। जिसमें उन्होंने कहा, “ये जीवन का सबसे मुश्किल फैसला था। मुझे पिछले कई दिनों से लग रहा था कि रिटायरमेंट का सही समय आ गया है”। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में मदद करने वाले परिवार के सदस्यों, कोच, खिलाड़ियों और अपने फैन्स का धन्यवाद किया। गंभीर ने कहा, ‘‘अपने देश के लिए 15 साल से भी ज्यादा समय तक क्रिकेट खेलने के बाद मैं इस खूबसूरत खेल को अलविदा कहना चाहता हूं।’’ वीडियो में गंभीर ने कहा कि आंध्र प्रदेश के खिलाफ दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में होने वाला रणजी मैच मेरे करियर का आखिरी मैच होगा। उन्होंने कहा कि मेरे करियर का अंत वहीं होने जा रहा है, जहां से मैंने शुरुआत की थी।

2007 टी-20 और 2011 वर्ल्ड कप के हीरो रहे गौतम गंभीर

Gautam Gambhir

बता दें कि गंभीर साल 2007 में हुए टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का अहम हिस्सा थे और वर्ल्ड कप में टीम की जीत के हीरो भी रहे थे। पाकिस्तान के साथ खेले गए फाइनल महामुकाबले में उन्होंने 54 गेंदों में 75 रनों की ताबड़तोड़ और अहम पारी खेली थी। जिसकी बदौलत भारत ने पाकिस्तान को हराकर पहला टी-20 वर्ल्ड कप देश की झोली में डाला था।

Gautam Gambhir

इतना ही नहीं साल 2011 में हुए वर्ल्ड कप में वो टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे थे। उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ फाइनल महामुकाबले में 97 रनों की अहम और यादगार पारी खेली थी, जिसकी बदौलत भारत ने 35 साल बाद इतिहास रचते हुए दूसरी बार वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था।

साल 2009 रहा गंभीर के लिए सबसे यादगार साल

Gautam Gambhir

गौतम गंभीर के पूरे क्रिकेट करियर में साल 2009 सबसे यादगार साल में से एक रहा। ये वो ही साल था, जब गंभीर अपने पहले विदेशी दौरे पर टेस्ट सीरीज खेलने न्यूजीलैंड गए थे और भारत ने 41 साल बाद न्यूजीलैंड की टीम को उसी की धरती पर ही हराया था। भारत की इस जीत में गंभीर की भूमिका अहम रही। उन्होंने उस टेस्ट सीरीज में 445 रन बनाए। इतना ही नहीं साल 2009 में ही गंभीर सर्वश्रेष्ठ टेस्ट क्रिकेटर भी बने थे और ICC टेस्ट रैंकिंग में टॉप पर पहुंचे थे।

टेस्ट क्रिकेट में लगातार 5 सेंचुरी जड़कर गंभीर ने बनाया था बड़ा रिकॉर्ड

Gautam Gambhir

गंभीर ने अपनी दमदार बल्लेबाजी से अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में कई बड़े रिकॅार्ड बनाए। साल 2009 में गंभीर ने टेस्ट क्रिकेट में एक बेहद शानदार रिकॉर्ड अपने नाम किया था। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में लगातार 5 शतक जड़कर दुनिया में क्रिकेट के तमाम दिग्गजों का ध्यान अपनी ओर खींच लिया था।

अपनी कप्तानी में गंभीर ने KKR को बनाया था 2 बार चैंपियन

Gautam Gambhir

बता दें कि गंभीर ने IPL के पहले सीजन में दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेलते हुए 534 रन बनाए थे। वो IPL के पहले सीजन में दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने थे। IPL के शुरुआती 2 सीजन में गंभीर ने ताबड़तोड़ 1000 रन बना डाले थे। इसी दमदार बल्लेबाजी को ध्यान में रखते हुए शाहरुख खान की फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) ने साल 2010 में उन्हें अपनी टीम में शामिल किया था और टीम की कमान भी सौंपी थी। अपनी कप्तानी में उन्होंने KKR को साल 2012 और 2014 में IPL का चैंपियन बनाया था।

गौतम गंभीर के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर पर एक नजर:-

Gautam Gambhir

टेस्ट क्रिकेट

(टेस्ट डेब्यू- 3 नवंबर 2004 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ)

मैच- 5                 रन- 4154

बेस्ट- 206            औसत- 41.95

अर्धशतक- 22       शतक- 09

(आखिरी टेस्ट- 9 नवंबर 2016 को इंग्लैंड के खिलाफ)

वनडे क्रिकेट

(वनडे डेब्यू- 11 अप्रैल 2003 को बांग्लादेश के खिलाफ)

मैच- 147           पारी- 143

रन- 5238          बेस्ट- 150 (नॉट आउट)

शतक- 11          अर्धशतक- 34       

(आखिरी वनडे- 27 जनवरी 2013 को इंग्लैंड के खिलाफ)

टी-20 क्रिकेट

(टी-20 डेब्यू- 13 सितंबर 2007 को स्कॉटलैंड के खिलाफ)

मैच- 37             रन- 932

बेस्ट- 75            औसत- 27.41

शतक- 0            अर्धशतक- 7

(आखिरी टी-20- 28 दिसंबर 2012 को पाकिस्तान के खिलाफ)

BCCI ने अब तक के शानदार करियर के लिए गंभीर को दी बधाई

कोलकाता नाइट राइडर्स ने भी दी बधाई, लिखा- आप हमेशा स्पेशल रहेंगे

.
.
.
.
.