Sports

कराचीः पूर्व टेस्ट कप्तान सलमान बट ने कहा है कि भारत की टेस्ट क्रिकेट में सफलता में मजबूत घरेलू ढांचे की अहम भूमिका है और पाकिस्तान अपने खिलाडिय़ों से इसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद नहीं कर सकता जबकि अधिकांश खिलाड़ी देश में चार दिवसीय क्रिकेट खेलने से बचते हैं। 

पिछले महीने पाकिस्तान को न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टेस्ट की श्रृंखला में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था जबकि टीम ने पिछले हफ्ते सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहला टेस्ट भी छह विकेट से गंवा दिया। दूसरी तरफ भारत ने मेलबर्न में आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरा टेस्ट 137 रन से जीतकर चार मैचों की श्रृंखला में 2-1 से अजेय बढ़त बनाई और बोर्डर-गावस्कर ट्राफी अपने पास बरकरार रखी।
salman butt image     

अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान 33 टेस्ट और 78 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले बट ने कहा, ‘‘देखिए भारत ने हाल में जब आस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट जीता तो विराट कोहली ने गेंदबाजी और बल्लेबाजी में सफलता का श्रेय भारत के घरेलू क्रिकेट को दिया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भारत इसलिए अच्छा कर रहा है क्योंकि उनके खिलाडिय़ों को सिर्फ आईपीएल टी20 क्रिकेट में खेलने की स्वीकृति है और उन्हें रणजी ट्राफी खेलनी होती है जबकि इसके विपरीत हमारे यहां अधिकांश खिलाड़ी चार दिवसीय घरेलू क्रिकेट में खेलने से बचते हैं।’’          

बट ने कहा, ‘‘उनमे (पाकिस्तानी खिलाडिय़ों) से अधिकांश ने 50 प्रथम श्रेणी मैच भी नहीं खेले हैं। उनमे से कई खिलाडिय़ों ने घरेलू चार दिवसीय क्रिकेट में पर्याप्त समय नहीं बिताया है। इससे भी बदतर यह है कि वे अपना अधिकांश क्रिकेट यूएई में खेल रहे हैं।’’ पाकिस्तान की टीम गुरुवार से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में दूसरा टेस्ट खेलेगी और बट ने कहा कि अंतिम एकादश में बदलाव से भी अधिक अंतर पैदा नहीं होगा। 
 

.
.
.
.
.