Sports

नई दिल्ली : चंद्रकांत पंडित की प्रतिष्ठा कड़े अनुशासन वाले कोच की है लेकिन इस दिग्गज घरेलू कोच को पता है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के अगले सत्र में जब आंद्रे रसेल, सुनील नारायण और पैट कमिंस जैसे स्टार उनके मार्गदर्शन में खेलेंगे तो उन्हें अपनी कोचिंग प्रणाली में बदलाव करना होगा। आईपीएल के 16वें टूर्नामेंट के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के मुख्य कोच बनाए गए 60 साल के पूर्व भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज पंडित जरूरत पडऩे पर खुद को बदलने के लिए तैयार हैं।

केकेआर के पहले भारतीय प्रमुख के रूप में नियुक्ति के बाद पंडित ने पीटीआई को दिए साक्षात्कार में कहा कि आपको हर जगह एक ही तरीके का उपयोग करने की आवश्यकता नहीं है। प्रत्येक खिलाड़ी की मानसिकता को समझने की कोशिश करते समय थोड़ा लचीला होना चाहिए, जो बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि मैं हमेशा ऐसा करता हूं (खिलाडिय़ों का अध्ययन करता हूं) और इसी के अनुसार हम चीजों को समझकर आगे बढ़ सकते हैं।

Domestic coaching, IPL, KKR, New coach, Chandrakant Pandit, Kolkata Knight Riders, IPL 2022, घरेलू कोचिंग, आईपीएल, केकेआर, नए कोच, चंद्रकांत पंडित, कोलकाता नाइट राइडर्स, आईपीएल 2022

पंडित ने कहा कि वह कोचिंग में सभी के लिए एक समान दृष्टिकोण का उपयोग नहीं करते। उन्हें यह स्वीकार करने में कोई झिझक नहीं है कि रसेल और कमिंस जैसे कुछ शीर्ष खिलाडिय़ों के पास काफी अनुभव है और वह कभी भी आईपीएल स्तर पर अपनी रणजी ट्रॉफी के तरीकों का उपयोग नहीं करेंगे।

पंडित ने कहा कि ये अनुभवी खिलाड़ी हैं। वे इतने वर्षों से उच्चतम स्तर पर खेल रहे हैं और निश्चित रूप से हर स्तर पर एक ही तरीके का उपयोग नहीं किया जा सकता है। आपको उनके तरीकों को समझना और उनका अध्ययन करना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि क्रिकेट की मांग को किसी भी अन्य चीज पर तरजीह मिले।

Domestic coaching, IPL, KKR, New coach, Chandrakant Pandit, Kolkata Knight Riders, IPL 2022, घरेलू कोचिंग, आईपीएल, केकेआर, नए कोच, चंद्रकांत पंडित, कोलकाता नाइट राइडर्स, आईपीएल 2022

क्या आईपीएल में कोचिंग की आजादी मिलेगी, सवाल पर पंडित ने कहा- मैं समझता हूं कि एक मुख्य कोच की नौकरी में चीजों को इस तरह से आगे बढ़ाने की जरूरत है कि वे नतीजे देने वाली हों। मुंबई के पूर्व दिग्गज अभिषेक नायर केकेआर के थिंकटैंक के प्रमुख सदस्यों में से एक हैं और कप्तान श्रेयस अय्यर भी मुंबई से हैं। संयोग से पंडित ने अपने करियर में अलग-अलग समय पर इन दोनों को कोचिंग दी है। पंडित ने कहा, श्रेयस के अलावा, उमेश यादव और वेंकटेश अय्यर को ट्रेनिंग दे चुका हूं, इसका मुझे फायदा होगा। 

कोच के रूप में छह रणजी ट्रॉफी खिताब वाले पंडित ने कहा- आपके पास अभिषेक (नायर) और ओंकार साल्वी (सहायक स्टाफ) हैं जो मेरी कोचिंग के तहत खेले हैं। उनकी मौजूदगी से फायदा होगा। पंडित ने खुलासा किया था कि वह आईपीएल के शुरुआती वर्षों के दौरान एक बार केकेआर के मालिक शाहरुख खान से मिले थे, लेकिन तब बात नहीं बनी। इस बार जब केकेआर के सीईओ वेंकी मैसूर ने मुख्य कोच के पद की पेशकश की तो उन्हें दूसरी बार सोचने की जरूरत नहीं पड़ी।

.
.
.
.
.