Sports

जालन्धर : भारत के पहलवान मौसम खत्री ने कॉमनवैल्थ गेम्स में कुश्ती के 97 किलोग्राम फ्री स्टाइल वर्ग में देश के लिए सिल्वर मैडल जीता है। फाइनल में मौसम का मुकाबला साऊथ अफ्रीका के मार्टिन इरास्मस पर था। दो बाई मिलने पर सीधा फाइनल में पहुंचे मौसम मार्टिन का सामना कर नहीं पाए। खेल शुरु होने के पहले सैकंड से ही मार्टिन मौसम पर भारी पड़ते दिखे। मौसम ने काफी जोर लगाया लेकिन मार्टिन की चुस्ती के आगे उनकी एक न चली। आखिरकार  मार्टिन ने पहले ही राउंड में आसानी से मैच जीत लिया।

27 साल के मौसम देसी कुश्ती के स्टार रहे हैं। सोनीपत के गांव पंजी जाटन जटां के रहने वाले मौसम ने पांच बार हिंद केसरी का खिताब भी जीता है। खत्री सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त से काफी प्रेरित हैं। वह प्रतिदिन छह-घंटे प्रैक्टिस करता हैं। वे रोजाना की डाइट में अंडे, चिकन और पांच से सात लीटर दूध पीते हैं। नेशनल लेवल विनर खत्री उन छह पहलवानों में से एक हैं, जो 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों में डोपिंग टेस्ट में फेल हो गए थे। खत्री अभी हरियाणा पुलिस में बतौर सब इंस्पेक्टर कार्यरत हैं। एशियाड गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीत चुके खत्री ने पहले भी कई बार हिंद केसरी दंगल पर फतेह पाई है
 

.
.
.
.
.