Sports

जकार्ता : भारतीय हाकी टीम ने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ हाल के दिनों में कायम अपने दबदबे को 18वें एशियाई खेलों के तीसरे स्थान के मैच में कायम रखते हुए शनिवार को इस चिर प्रतिद्वंद्वी को 2-1 से शिकस्त देकर कांस्य पदक हासिल किया। आकाशदीप सिंह ने मैच के तीसरे मिनट में ही मैदानी गोल दाग कर भारत को शानदार शुरूआत दिलायी। मैच के 50वें मिनट में हरमनप्रीत सिंह के पेनल्टी कार्नर पर किये गोल से भारत ने 2-0 की बढ़त कर ली। इसके बाद मुहम्मद अतीक ने 52वें मिनट में पाकिस्तान के लिए मैच का पहला गोल कर भारतीय प्रशंसकों की धड़कने बढ़ा दी। भारतीय टीम ने हालांकि इस मैच में वह गलतियां नहीं दोहराई जो उन्होंने मलेशिया के खिलाफ सेमीफाइनल में किया था और अंतिम मिनटों मजबूत डिफेंस के बल पर टीम मैच को बचाने में कामयाब रही।

PunjabKesari

विश्व रैंकिंग में पांचवें स्थान पर काबिज गतविजेता भारत को टूर्नामेंट का प्रबल दावेदार माना जा रहा था लेकिन सेमीफाइनल में मलेशिया से मिली हार के बाद उसे कांस्य पदक से संतोष करना पड़ेगा। भारत ने 13वीं रैंकिंग वाली पाकिस्तानी टीम को पिछले चार महीने में दूसरी बार हराया है। इससे पहले टीम ने जून में चैम्पियंस ट्राफी में उसे 4-0 से हराया था। मैच के शुरूआती क्षणों में कुछ मौके बनाने वाली भारतीय टीम को तीसरे मिनट में पहली सफलता मिला। ललित उपाध्याय के पास पर आकाशदीप ने पाकिस्तानी गोलकीपर इमरान बट्ट को छकाते हुए गोल में बदल दिया।

PunjabKesari

पाकिस्तान ने पांचवें मिनट में लगभग गोल कर दिया था लेकिन अतीक का यह रिवर्स शॉट गोल पोस्ट से टकरा कर रूक गया। पाकिस्तान ने इसके लिए रेफरल लिया जिसमें देखा गया कि गेंद ने गोल लाइन को पार नहीं किया था। इसके बाद पहले क्वार्टर में भारतीय टीम पूरी तरह से पाकिस्तान पर हावी रही लेकिन टीम कोई गोल नहीं कर सकी। इस दौरान मनदीप एक आसान मौका चूक गए। पाकिस्तान दूसरे क्वार्टर में बेहतर टीम दिखी और उनके खिलाड़ी लगातार भारतीय खेमे में हमले कर रहे थे। इस बीच मुहम्मद दिलबीर और एजाज अहमद मौके बनाने के बाद गोल करने से चूक गये। पाकिस्तान को 22वें मिनट में दो पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन दोनों मौके पर वे नाकाम रहे।

PunjabKesari

दूसरे क्वार्टर की तरह तीसरे क्वार्टर में भी भारत का खेल लचर दिखा जिससे गेंद पाकिस्तान के कब्जे में ज्यादा रही। मध्यांतर से तीन मिनट पहले एसवी सुनील को गोल करने का मौका मिला लेकिन वह पाकिस्तानी गोलकीपर को छका नहीं सके। मैच के 39वें मिनट में पाकिस्तान को तीसरा पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन मुहम्मद इरफान के प्रयास को भारतीय खिलाडिय़ों ने नाकाम कर दिया। दूसरे और तीसरे क्वार्टर में कोई गोल नहीं हुआ।       

PunjabKesari

चौथे क्वार्टर में भारत ने दूसरे गोल की कोशिश तेज की और पाकिस्तानी सर्कल में पहुंचने में कई बार कामयाब रहे। आखिरकार 50 वें मिनट में टीम को पहला पेनल्टी कार्नर मिला। जिसे हरमनप्रीत ने गोल में बदल कर बढ़त को दोगुना कर दिया। इसके बाद पाकिस्तान ने जवाबी हमला तेज किया जिसका उन्हें फायदा भी मिला। अबु बकर के पास को अतीक ने गोल में बदल दिया। पाकिस्तान ने आखिरी क्षणों में कई प्रयास किये लेकिन भारतीय रक्षापंक्ति ने उनके हमलों को नाकाम कर दिया। गोल की तलाश में पाकिस्तान ने अपना गोलकीपर भी हटा लिया और मैच के आखिरी मिनट में मनदीप को गोल कर भारत की बढ़त को 3-1 करने का मौका मिला लेकिन वह इकलौते डिफेंडर को छकाने में सफल नहीं रहे।

PunjabKesari

.
.
.
.
.