Sports

जालन्धर : भारतीय क्रिकेट को टेस्ट क्रिकेट में पहली जीत दिलाने का श्रेय जाता है महाराष्ट्र के रहने वाले विजय सैमुअल हजारे को। विजय हजारे वहीं शख्स है जिनके सम्मान में भारतीय क्रिकेट बोर्ड 2002 से विजय हजारे ट्रॉफी करवा रहा है। 11 मार्च 1915 को मराठी ईसाई परिवार में जन्मे विजय हजारे ने 32 साल की उम्र में टेस्ट क्रिकेट में डैब्यू किया था। हजारे पहले ऐसे भारतीय बल्लेबाज थे जिन्होंने तीन टेस्ट मैच में लगातार शतक लगाने का कारनामा किया था।

एकमात्र जीत से भारत को दिया गौरवपूर्ण क्षण

Birthday Special : Vijay hazare the captain in first test win of india

टीम इंडिया को टेस्ट नेशन का दर्जा मिले हुए को लगभग 20 साल हो गए हैं। ऐसे में हजारे ने 1951-52 में मद्रास के मैदान पर इंग्लैंड को हराकर भारत को पहली टेस्ट जीत का स्वाद चखाया। यह हजारे के करियर का 25वां टेस्ट था। टीम इंडिया ने इस मैच में पारी और आठ रन की जीत के साथ इतिहास रचा था। हजारे ने 30 अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच में 47.65 के औसत से 2,192 रन बनाए थे। इस दौरान विजय हजारे ने सात शतक लगाने में भी कामयाबी हासिल की थी

विजय हजारे का क्रिकेट करियर

Birthday Special : Vijay hazare the captain in first test win of india

प्रथम श्रेणी में भारत की ओर से जड़ा था पहला तिहरा शतक

Birthday Special : Vijay hazare the captain in first test win of india

भले ही इंटरनेशनल क्रिकेट में वीरेंद्र सहवाग ने नाम पर भारत के लिए पहला तिहरा शतक जडऩे का रिकॉर्ड हुआ लेकिन प्रथम श्रेणी में यह रिकॉर्ड विजय हजारे के नाम पर दर्ज हुआ था। हजारे ने 21 जनवरी 1940 को पूना क्लब ग्राउंड पर महाराष्ट्र की ओर से खेलते हुए बड़ौदा के खिलाफ तिहरा शतक लगाया था। वहीं, सहवाग ने 64 साल बाद पाकिस्तान के खिलाफ मुलतान के मैदान पर तिहरा शतक जड़ा था।

प्रथम श्रेणी में दर्ज हैं 595 विकेट
Birthday Special : Vijay hazare the captain in first test win of india

विजय हजारे में न सिर्फ बल्लेबाजी में कमाल दिखाया बल्कि गेंदबाजी में भी उनका कोई सानी नहीं था। हजारे ने प्रथम श्रेणी में 595 तो टेस्ट क्रिकेट में 20 विकेट अपने नाम किए। उन्होंने गेंदबाजी के दौरान महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमेन को तीन बार आऊट करने का रिकॉर्ड भी अपने नाम दर्ज किया है।  हजारे भारत की ओर से दोनों पारियों में शतक जडऩे वाले पहले बल्लेबाज भी है जिन्होंने 1947-48 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे के दौरान एडिलेड टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जमाया था। 

.
.
.
.
.