Sports

नई दिल्ली : भारतीय कोच रवि शास्त्री ने ऑल राउंडर रविंद्र जडेजा को विश्व कप की संभावित टीम में फिट नहीं बताया है। वहीं, दूसरी ओर भारत के सीनियर स्पिनर हरभजन ने जडेजा को टीम इंडिया में वापसी के लिए रास्ता दिखाया है। हरभजन ने एक इंटरव्यू के दौरान जडेजा पर बात करते हुए कहा कि पिछले कुछ सालों से क्रिकेट तेजी से बदला है। पहले पहल अंगुली के स्पिनर बेहद कामयाब होते थे लेकिन अब क्लाई के स्पिनरों जैसे कि कुलदीप यादव और यजुवेंद्र चहल ने कई क्रांति लाई है। ऐसे में अगर जडेजा को टीम इंडिा में वापसी करने है तो उन्हें सिर्फ अंगुली के स्पिनर के तौर पर टीम में बने रहने के लिए उन्हें सुधार करना होगा। 

इंगलैंड में रविंद्र जडेजा हो सकते हैं अच्छा विकल्प 

Bhajji clear- What Jadeja must do to make India's World Cup squad

न्यूजीलैंड के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में जडेजा को अंतिम एकादश में मौका नहीं मिला लेकिन भारत के लिए तीन एकदिवसीय विश्व कप टूर्नामेंटों में खेलने वाले हरभजन का मानना है कि वह विश्व कप की टीम में जगह बना सकते हैं। हरभजन ने कहा- अगर आपको याद हो, 2017 चैम्पियंस ट्राफी में ब्रिटेन में मौसम गर्म और उमस भरा था। इसलिए इस बार भी वैसा मौसम हुआ तो जडेजा का इस्तेमाल एक पैकेज की तरह किया जा सकता है। अगर विरोधी टीम में 5 या 6 दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं तो उन्हें टीम में रखा जा सकता है। वह छठे नंबर पर बल्लेबाजी भी कर सकते हैं जबकि हार्दिक पंड्या 7वें नंबर पर। वह टीम के सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षक भी हैं।

अंगुली के स्पिनरों के पास कम होते हैं तीर

Bhajji clear- What Jadeja must do to make India's World Cup squad

अपने जमाने के सबसे शानदार ऑफ स्पिनर माने जाने वाले हरभजन सिंह ने माना कि कलाई के स्पिनरों के मुकाबले अंगुली के स्पिनरों के तरकश में कम तीर होते हैं। टेस्ट में 417 और एकदिवसीय में 269 विकेट लेने वाले 38 साल के इस गेंदबाज ने कहा- इसे समझना काफी आसान है, कलाई के स्पिनर के पास 3 विकल्प होते है। लेग स्पिन, गुगली और फ्लिपर। अगर आप टॉप स्पिनर हैं तो आपके पास 4 विकल्प होगा। उन्होंने कहा- ऑफ स्पिनर की बात करें तो अगर आपके पास दमदार दूसरा का विकल्प नहीं है तो अच्छा बल्लेबाज आपकी गेंदबाजी का अंदाजा लगा लेगा और बड़े शाट खेल सकता है।

दुनिया भर के बल्लेबाज कलाई के स्पिनरों के आगे कर रहे संघर्ष

Bhajji clear- What Jadeja must do to make India's World Cup squad

नाथन लियोन क्लासिकल ऑफ स्पिनर है और वह एकदिवसीय में संघर्ष करते दिखे। इस गेंदबाज ने कहा कि दुनिया भर के बल्लेबाजों के स्पिन के खिलाफ खास कर कलाई के स्पिनरों के विरुध प्रदर्शन में गिरावट आई है। उन्होंने कहा- स्पिनरों को उनके हाथ को देखकर गेंद का अंदाजा लगाने का चलन कम हो रहा है। ज्यादातर विदेशी बल्लेबाज ऐसा नहीं कर पा रहे। कुलदीप और चहल ने हालांकि काफी निरंतर गेंदबाजी की है। लगभग 40 मैचों में आप उनका पिच मैप देखेंगे तो पायेंगे कि उनकी लेंथ बिलकुल सटीक रहती है।

.
.
.
.
.