Sports

मैनचेस्टर : डेविड वार्नर के शतक के बावजूद दक्षिण अफ्रीका ने कप्तान फाफ डु प्लेसिस की अगुआई में शानदार प्रदर्शन करते हुए विश्व कप में अपने निराशाजनक अभियान का अंत यहां गत चैंपियन आस्ट्रेलिया के खिलाफ 10 रन की जीत के साथ किया। शनिवार को भारत की श्रीलंका पर आसान जीत के बाद आस्ट्रेलिया को अंक तालिका के शीर्ष पर जगह बनाने के लिए दिन के अन्य मैच में दक्षिण अफ्रीका को हराना था लेकिन वार्नर (117 गेंद में 122 रन) के टूर्नामेंट के तीसरे शतक और विकेटकीपर बल्लेबाज एलेक्स कैरी (69 गेंद में 85 रन) की आक्रमक पारी के बावजूद टीम लक्ष्य हासिल नहीं कर सकी।

दक्षिण अफ्रीका ने टूर्नामेंट के अपने अंतिम लीग मैच में डु प्लेसिस की 94 गेंद में 100 और रेसी वान डेर दुसेन की 95 रन की करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी की बदौलत छह विकेट पर 325 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। दक्षिण अफ्रीका ने इसके बाद कागिसो रबादा (56 रन पर तीन विकेट), ड्वेन प्रिटोरियस (27 रन पर दो विकेट) और एंडिले फेहलुकवायो (22 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी से आस्ट्रेलिया को 49.5 ओवर में 315 रन पर समेट दिया।

 

 

आस्ट्रेलिया की टीम नौ मैचों में 14 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रही और दूसरे सेमीफाइनल में बर्मिंघम में मेजबान इंग्लैंड से भिड़ेगी। भारत पहले सेमीफाइनल में यहां मंगलवार को न्यूजीलैंड का सामना करेगा। वार्नर और कैरी के अलावा आस्ट्रेलिया का कोई बल्लेबाज टिककर नहीं खेल पाया। लक्ष्य का पीछा करते हुए आस्ट्रेलिया की टीम 24.1 ओवर में 119 रन पर चार विकेट गंवाने के बाद संकट में थी। वार्नर और कैरी ने इसके बाद पांचवें विकेट के लिए 90 गेंद में 108 रन की साझेदारी करके पारी को संभाला। इन दोनों के आउट होने के बाद हालांकि गत चैंपियन की पारी सिमट गई। 

इससे पहले दक्षिण अफ्रीका को एडन मार्कराम (34) और क्विंटन डिकाक (52) की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 79 रन जोड़कर अच्छी शुरुआत दिलाई। इन दोनों के आउट होने के बाद डु प्लेसिस और वान डेर दुसेन ने तीसरे विकेट के लिए 151 रन की साझेदारी करके बड़े स्कोर का मंच तैयार किया। दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ने इस दौरान अपना 12वां शतक भी पूरा किया। उन्होंने 94 गेंद का सामना करते हुए सात चौके और दो छक्के मारे।

 

वान डेर दुसेन ने पैट कमिंस पर छक्के के साथ टीम का स्कोर 300 रन के पार पहुंचाया लेकिन पारी की अंतिम गेंद पर छक्का जडऩे की कोशिश में डीप मिडविकेट पर ग्लेन मैक्सवेल को कैच दे बैठे। उन्होंने अपनी पारी में चार छक्के और चार चौके मारे।

.
.
.
.
.