Sports

नई दिल्ली: शादी दो लोगों का मिलन होता है। इसमें लड़का-लड़की एक दूसरे के साथ अपना सुख-दुख बांटते हैं, लेकिन सोचने वाली बात यह है कि अगर लड़का-लड़की एक दूसरे का सुख-दुख बांट सकते हैं तो एक दूसरे के साथ शादी का खर्च क्यों नहीं बांट सकते? यह बात भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी विराट कोहली पूछ रहे हैं।


एक ब्रान्ड के विज्ञापन को लेकर बनी वीडियो में विराट शादी का मतलब बता रहे हैं। उनका कहना है कि शादी सिर्फ दो लोगों का ही मिलना नहीं होता है बल्कि दो परिवारों का मिलना होता है। इसमें सुख आधा-आधा, दुख आधा-आधा होता है, तो खर्च भी आधा-आधा होना चाहिए। क्योंकि मान देने से मान मिलता है। इस वीडियो में विराट कही न कही समाज को नए रुप से देखने की कोशिश कर रहे हैं।