Sports

नई दिल्ली: पहले दो सत्र में अच्छी सफलता हासिल करने वाली पेशेवर कुश्ती लीग (पीडब्ल्यूएल) का तीसरा सत्र अगले साल जनवरी के पहले सप्ताह में शुरू होगा और इस बार इसका आकर्षण ग्रीको रोमन कुश्तियां होंगी जिन्हें पहली बार प्रदर्शनी खेल के रूप में शामिल किया गया है।   

आयोजकों की यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार इस बार पीडब्ल्यूएल में लगभग खिलाडिय़ों के भाग लेने की संभावना है। इस बार प्रतियोगिता 24 दिन तक चलेगी जिसके प्रसारण अधिकार सोनी पिक्चर्स नेटवर्क ने हासिल किए हैं।  भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को विश्वास है कि ग्रीको रोमन कुश्ती शामिल किये जाने से लीग को देखने के लिए अधिक दर्शक आएंगे और इससे भारत का शैली में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन सुधारने में भी मदद मिलेगी।   सिंह ने कहा, ‘‘ग्रीकोरोमन शैली की कुश्ती में भी हमें विश्व स्तर पर पदक हासिल हुए हैं। हम इस शैली के पहलवानों को भी एक मंच देना चाहते हैं। यह अभी शुरुआत है और मुझे विश्वास है कि यह शैली भी भविष्य में अपनी अलग पहचान बनाएगी। उम्मीद है कि इस शैली की कुश्ती को पसंद किया जाएगा और इससे ग्रीको रोमन पहलवानों को अपना स्तर सुधारने में मदद मिलेगी।’’  

तीसरे सत्र के लिए अब तक दुनिया भर से 200 खिलाडिय़ों ने पीडब्ल्यूएल के लिए उपलब्ध रहने की पुष्टि कर दी है। लीग के आयोजक भारतीय कुश्ती संघ और प्रो स्पोर्टीफाई के अनुसार भारतीय खिलाडिय़ों सहित इस बार यह सूची 300 तक पहुंच गई है। टीमों की संख्या बढऩे से यह आयोजन इस बार 24 दिन का होगा। सभी टीमें राउंड रॉबिन लीग के आधार पर एक दूसरे से भिड़ेंगी। शीर्ष 4 पर रहने वाली टीमों के बीच सेमीफाइनल खेले जाएंगे।