Sports

नई दिल्लीः भारतीय डेविस कप कप्तान महेश भूपति न कहा कि डेनिस शापोवालोव जैसे उदीयमान खिलाडिय़ों से सजी कनाडा की टीम चेक गणराज्य की टीम से भी अधिक मजबूत है जिससे भारत 2015 में प्लेआफ चरण में हार गया था। भारतीय टीम ने एडमंटन पहुंचने से पहले न्यूयार्क में एक सप्ताह के शिविर में हिस्सा लिया। वह एलीट विश्व ग्रुप में जगह बनाने के लिये चौथी बार प्रयास करेगी। एशिया ओसियाना क्षेत्र में दबदबा बनाने के बाद भारतीय टीम विश्व ग्रुप प्लेआफ में 2014 में र्सिबया, 2015 में चेक गणराज्य और 2016 में राफेल नडाल की अगुवाई वाले स्पेन से हार गया था।   

कनाडा ने शुक्रवार से शुरू होने वाले मुकाबले के लिये यूएस ओपन के चौथे दौर में पहुंचने वाले विश्व के 51वें नंबर के खिलाड़ी शापोवालोव, वासेक पोसपिसिली (82) के अलावा युगल के मंझे खिलाड़ी डेनियल नेस्टर (युगल रैंकिंग में 43) और ब्रायन इस्नर को टीम में रखा है।  भूपति ने एडमंटन ने पीटीआई से कहा, ‘‘कनाडा की टीम बहुत अच्छी है लेकिन निश्चित तौर पर हम इसलिए यहां हैं क्योंकि हमने उनके खिलाफ खेलने का हक हासिल किया। मेरी निजी राय है कि कनाडा की टीम भारत का दौरा करने वाली चेक गणराज्य की टीम से अधिक दमदार है। ’’

शापोवालोव ने पिछले कुछ सप्ताहों में अपने प्रदर्शन से खास छाप छोड़ी है। वह क्वालीफायर के रूप में यूएस ओपन के चौथे दौर में पहुंचे। इस 18 वर्षीय खिलाड़ी ने मांट्रियल मास्टर्स के सेमीफाइनल में जगह बनायी थी और इस बीच नडाल को भी हराया था। चेक गणराज्य की जो टीम भारत दौरे पर आयी थी उसमें जिसरी वेस्ली (तब विश्व रैंकिंग 40 लेकिन अब 59) और लुकास रोसोल (तब विश्व रैंकिंग 85) उसके मुख्य एकल खिलाड़ी थे।  

SPORTS की अन्य खबरें पढ़ने के लिए हमें Facebook आैर Twitter पर फोलो करें।