Sports

नई दिल्ली:  बाएं हाथ के धुरंधर बल्लेबाज गौतम गंभीर की दो साल के अंतराल के बाद टीम इंडिया में वापसी हो गई है और उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के शेष दो टेस्टों के लिए भारतीय टीम में शामिल कर लिया गया है। गंभीर को चोटिल ओपनर लोकेश राहुल की जगह टीम में शामिल किया गया है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) के सचिव अजय शिर्के ने मंगलवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी। शिर्के ने बताया कि ओपनर राहुल कानपुर के ग्रीन पार्क में हुए पहले टेस्ट में हैमस्ट्रिंग में चोट लगने के कारण शेष दो टेस्टों के लिए टीम से बाहर हो गए है और उनकी जगह कोलकाता और इंदौर में होने वाले बाकी दो टेस्टों के लिए दिल्ली के गंभीर को टीम में शामिल किया गया है।

भारत के लिए 56 टेस्ट खेलने वाले दिल्ली के गंंभीर लंबे समय से नजरअंदाज चल रहे थे। गंभीर ने भारत के लिए अपना आखिरी टेस्ट अगस्त 2014 में ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। गंभीर का हाल में दिलीप ट्रॉफी में बल्ले से काफी शानदार प्रदर्शन रहा था। टीम में हालांकि बाएं हाथ के ओपनर शिखर धवन मौजूद है और अजिंक्य रहाणे भी ओपङ्क्षनग की जिम्मेदारी उठा लेते हैं लेकिन चयनकर्ताओं ने गंभीर को टीम में शामिल कर संकेत दिया है कि उन्हें कोलकाता में होने वाले दूसरे टेस्ट के लिए टीम में जगह मिल सकती है।

यह देखना दिलचस्प होगा कि मुरली विजय के जोड़ीदार के रूप में दो वामहस्त बल्लेबाजों शिखर और गंभीर में से किसे अंतिम एकादश में जगह मिलती है। शिखर इस समय खराब फार्म में है और कानपुर में भारत के पहला टेस्ट जीतने के बाद उन्होंने कड़ा अभ्यास किया था। बीसीसीआई ने यह भी स्पष्ट किया है कि तेज गेंदबाज इशांत शर्मा चिकनगुनिया के प्रभाव से अभी पूरी तरह उबर नहीं पाए हैं और वह कोलकाता टेस्ट से बाहर रहेंगे। चयनकर्ताओं ने ऑफ स्पिनर जयंत यादव को भी टीम में शामिल किया है हालांकि उनके कोलकाता में खेलने की संभावना दिखाई नहीं देती है।