Sports

नई दिल्लीः इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलेस्टेयर कुक के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास के बाद अब राष्ट्रीय टीम के एक अन्य पूर्व कप्तान पॉल कोलिंगवुड ने भी मौजूदा सत्र की समाप्ति के बाद पेशेवर क्रिकेट को अलविदा कहने की घोषणा कर दी है। काउंटी चैंपियनशिप टीम डरहम ने गुरूवार को बताया कि कोलिंगवुड मौजूदा सत्र की समाप्ति के बाद क्रिकेट के संन्यास ले लेंगे। 42 साल के कोलिंगवुड पहले ऐसे इंग्लिश कप्तान बने थे जिन्होंने अपने नेतृत्व में इंग्लैंड क्रिकेट टीम को किसी अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में जीत दिलाई थी। उनकी कप्तानी में वर्ष 2010 में इंग्लैंड ने आईसीसी विश्व टी 20 खिताब जीता था। वह अब 24 सितंबर को मिडलसेक्स के खिलाफ अपने अंतिम मैच के साथ पेशेवर क्रिकेट से भी संन्यास ले लेंगे।

एक दिन यह आना ही था
कोलिंगवुड इंग्लैंड की तीन ऐसी एशेज सीरीज टीम का हिस्सा रहे जिसने चिर प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत दर्ज की थी। उन्होंने वर्ष 2011 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। कोलिंगवुड ने क्लब की वेबसाइट पर कहा, ''मैं जानता था कि कभी न कभी यह दिन आ जाएगा लेकिन मेरे लिये यह आसान नहीं है, मेरे लिये यह भावनात्मक निर्णय है। हालांकि मैं जानता हूं कि यह सही समय है और मैंने अपने जीवन की सारी बची उर्जा इस खेल को दी है।'' उन्होंने कहा, ''मैंने इंग्लैंड और डरहम टीम के साथ बहुत कुछ हासिल किया है जिसकी मैं कल्पना नहीं कर सकता था। मैं इसके लिए शुक्रगुजार हूं। मैं अपने आने वाले भविष्य को लेकर उत्साहित हूं और नयी चुनौतियों के लिए भी तैयार हूं।'' 
PunjabKesari

7 साल पहले दिखी थी आखिरी झलक
कॉलिंगवुड अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के दिनों में इंग्लैंड के सबसे शानदार कप्तानों में शुमार किए जाते थे। उन्होंने 2011 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज में खराब प्रदर्शन के बाद टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था जबकि उसी साल वो आखिरी बार वनडे क्रिकेट में भी नजर आए थे। हालंकि तब उन्होंने वनडे से संन्यास की घोषणा नहीं की थी। कॉलिंगवुड एक शानदार ऑलराउंडर थे। बल्लेबाजी और गेंदबाजी के अलावा ये दिग्गज एक बेहतरीन फील्डर भी था। उनके कई शानदार कैच आज भी यू-ट्यूब पर लोग खूब देखते हैं। इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) में वो 2009-10 में दिल्ली डेयरडेविल्स और 2011-12 में राजस्थान रॉयल्स टीम का हिस्सा रह चुके हैं। कोलिंगवुड ने 22 वर्ष पूर्व पदापर्ण के बाद से अपने प्रथम श्रेणी करियम में 17000 रन बनाए।

ये हैं अंतरराष्ट्रीय करियर के आंकड़े
कॉली के नाम से मशहूर पॉल कॉलिंगवुड का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर आठ साल लंबा रहा था लेकिन उस बीच उन्होंने कई शानदार सफलताएं और आंकड़े दर्ज किए। साल 2007 में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में दोहरा शतक जड़ा और ऐसा करने वाले तीसरे इंग्लिश बल्लेबाज बने। इसके अलावा इंग्लैंड के लिए शतक जड़ने वाले वो डरहम के पहले खिलाड़ी भी बने। ये हैं उनके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के कुछ खास आंकड़े..

वनडे क्रिकेटः मैच- 197, रन- 5092, शतक- 5, अर्धशतक- 26, सर्वश्रेष्ठ पारी- नाबाद 120 रन

टेस्ट क्रिकेटः मैच- 68, रन- 4259, शतक- 10, अर्धशतक- 10, सर्वश्रेष्ठ पारी- 206 रन

अंतरराष्ट्रीय टी20: मैच- 36, रन- 583, शतक- 0, अर्धशतक- 3, सर्वश्रेष्ठ पारी- 79 रन

 


 

.
.
.
.
.