Sports

नई दिल्लीः बेंगलुरु के एम चेन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए अफगानिस्तान और भारत के बीच ऐतिहासिक टेस्ट मैच के बाद कप्तान अजिंक्य रहाणे ने ऐसा काम किया जिससे सभी उनकी सराहना कर रहे हैं। इस मैच को भारत ने दो दिन में ही 262 रनों से जीत लिया। यह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में भारत की पारी और रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत है। इस मैच में भारत के सभी खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया। सबसे पहले तो शिखर धवन और मुरली विजय की शतकीय पारियों ने दिल जीत फिर गेंदबाजी में रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, उमेश यादव और ईशांत शर्मा ने खूब वाहवाही लूटी।

किया दिल जीत लेने वाले काम
क्रिकेट को जैंटलमैन गेम कहा जाता है और भारतीय खिलाड़ियों ने अफगानी प्लेयर्स के साथ भी कुछ ऐसा ही किया। दरअसल, मैच जीतने के बाद जब भारतीय टीम ट्राॅफी के साथ तस्वीर खिंचवा रही थी तब अजिंक्य रहाणे ने अफगानी खिलाड़ियों को बुलाया और ट्राॅफी के साथ फोटो खिंचवाने के लिए कहा। इसके बाद सोशल मीडिया पर फैंस के साथ-साथ क्रिकेटर्स भी भारतीय टीम की तारीफों के पुल बांध रहे हैं। 
 


अफगानी खिलाड़ियों का रहा खराब प्रदर्शन
अफगानिस्तान की बल्लेबाजी का दोनों पारियों में बेहद खराब प्रदर्शन रहा और एक दिन से कम के खेल में उसकी दोनों पारियां सिमट गयीं। अफगानिस्तान के लिए पहली पारी की शुरूआत निराशाजनक रही और मोहम्मद शहजाद(14) चौथे ही ओवर में हार्दिक पांड्या के हाथों रनआउट हो गए। जावेद अहमदी आठ गेंदों में एक ही रन बना सके और इशांत ने उन्हें बोल्ड किया। रहमत शाह ने 15 गेंदों में दो चौके लगाकर 14 रन बनाए और उमेश ने उन्हें पगबाधा किया। 

अफगान बल्लेबाजों पर भारतीय गेंदबाजों का दबाव साफ दिखा और 50 रन पर आधी टीम पवेलियन लौट गयी। विकेटकीपर अफसर जजई (06) को भी इशांत ने बोल्ड किया। इसके बाद भारतीय स्पिनरों की विशेषज्ञ जोड़ी अश्विन और जडेजा ने मध्य एवं निचले क्रम को धराशायी किया। अश्विन ने अफगान कप्तान स्तानिककाई को अपना पहला शिकार बनाया जो 11 रन ही बना सके।

 

.
.
.
.
.