Sports

कराची : पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहबाज अहमद ने पाकिस्तान हॉकी महासंघ के सचिव के तौर पर अपना काम फिर संभाल लिया है क्योंकि पीएचएफ अध्यक्ष ब्रिगेडियर (रिटायर्ड) खालिद सज्जाह खोकार ने उनका इस्तीफा नामंजूर कर दिया। शाहबाज ने भारत में दिसंबर में हुए विश्व कप में टीम के खराब प्रदर्शन के बाद इस्तीफा दे दिया था।

उन्होंने मंगलवार को यहां पत्रकारों से कहा, ‘पिछले 15 सालों से पाकिस्तान हॉकी का स्तर गिर रहा है और मुझे नहीं लगता कि मेरे इस्तीफे से कोई मदद मिलेगी। मैं विश्व कप में टीम के प्रदर्शन से दुखी था और इसलिए ही इस्तीफा दिया था।’ पाकिस्तान में हॉकी की दशा बहुत खराब है और सरकार के पैसा देने से इनकार के बाद उसे एफआईएच प्रो लीग से पीछे हटना पड़ा जो 2020 ओलंपिक का क्वालीफायर टूर्नामेंट भी है।

शाहबाज ने कहा, ‘अब हमें एफआईएच कार्यकारी बोर्ड के सदस्यों को मनाना होगा कि पाकिस्तान हॉकी पर और आर्थक दंड ना लगाए या फिर निलंबन को प्रतिबंध में बदल दे।’ उन्होंने कहा, ‘हमने पीएचएफ बोर्ड की बैठक 15 फरवरी को बुलाई है और पाकिस्तान हॉकी को नए सिरे से जिंदा करने की रणनीति पर बात की जाएगी। इसके अलावा यह भी बात होगी कि एफआईएच को हम पर दंड नहीं लगाने के लिए कैसे मनाया जाए।’ 

.
.
.
.
.