Sports

नई दिल्ली : पिछले साल विजय हजारे ट्रॉफी में बल्ले से कहर मचाने वाले सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को वैस्टइंडीज के खिलाफ 4 अक्तूबर से शुरू होने वाले दो टैस्ट मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम में चुन लिया गया है। मयंक ने विजय हजारे ट्रॉफी के आठ मैच में 723 रन बनाकर अपनी दावेदारी मजबूत की थी। वहीं, भारत को बतौर कप्तान एशिया कप दिलाने वाले रोहित शर्मा के हाथ निराशा लगी है। रोहित ने इंगलैंड दौरे पर भारतीय ओपनिंग जोड़ी के फेल होने पर कहा था कि वह वनडे के अलावा टैस्ट टीम में भी ओपनिंग की ख्वाहिश रखते हैं। अगर बीसीसीआई चाहे तो वह ओपनिंग करने के लिए तैयार हैं। अब क्योंकि रोहित ने एशिया कप में शानदार प्रदर्शन कर टीम को विजेता बनाया ऐसे में कयास थे कि उन्हें भारतीय टैस्ट टीम में चुना जा सकता है लेकिन चयनकत्र्ताओं को अभी भी रोहित का दावा ठीक नहीं लगा। ऐसे में घरेलू क्रिकेटर मयंक अग्रवाल को वरीयता दी गई है। 

घरवालों ने दी मयंक को टैस्ट टीम में चुने जाने की खबर

PunjabKesari

मयंक जब वैस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले टैस्ट मैचों के लिए टीम में चुने गए तो इसकी उन्हें कोई खबर नहीं थी। खुद मयंक ने बताया कि उन्हें घरवालों ने फोककर बताया कि उसकी सिलेक्शन हो गई है। 27 साल के मयंक ने कहा कि मैं काफी खुश हूं। मुझे मौका मिला है खुद को साबित करने का, मेरी कोशिश होगी कि अपना बैस्ट दूं। बकौल मयंक- एक खिलाड़ी के तौर पर आपके हाथ में आपका प्रदर्शन होता है आप उसी को नियंत्रित कर सकते हो और मेरा ध्यान अपने प्रदर्शन पर ही होता है बाकी चीजें मेरे हाथ में नहीं हैं तो मैं उन पर ध्यान नहीं देना चाहता। बता दें कि मयंक ने पिछले सीजन विजय हजारे ट्रॉफी, रणजी ट्रॉफी, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में अपने बल्ले का जमकर जौहर दिखाया था। मयंक रणजी ट्रॉफी 2017-18 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे थे। उन्होंने आठ मैचों की 13 पारियों में पांच शतक, दो अर्धशतक की मदद से 1160 रन बनाए थे। विजय हजारे ट्रॉफी 2017-18 में उन्होंने आठ मैचों में 90.73 की औसत से 723 रन बनाए थे जिसमें तीन शतक और पांच अर्धशतक शामिल थे।

.
.
.
.
.