Sports

नई दिल्ली : टोक्यो ओलंपिक्स में टेबल टेनिस मुकाबलों के लिए निकाले गए ड्रा में भारतीय खिलाड़ियों को मुश्किल राह मिली है। भारत की मिश्रित जोड़ी अचंत शरत कमल और मणिका बत्रा का शनिवार से शुरू हो रहे मुकाबलों में पहला सामना तीसरी सीड लिन युन-जू और चेंग आयी चिन को जोड़ी से होगा। 

भारतीय जोड़ी ने 2018 के जकार्ता एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता था लेकिन चीनी ताइपे की लेफ्ट-राइट खिलाड़ियों की जोड़ी से उनका मुकाबला कतई आसान नहीं होगा। बाएं हाथ के खिलाड़ी लिन को विश्व में छठी रैंकिंग हासिल है जबकि चेंग विश्व में आठवें नंबर के खिलाड़ी हैं हालांकि शरत और जी सत्यन पुरुष एकल में रविवार को दूसरे राउंड में जाकर उतरेंगे। 

शरत विश्व एकल रैंकिंग में 32वें और सत्यन 38वें स्थान पर हैं। उनका तीसरे दौर में पहुंचना सुनिश्चित माना जा रहा है लेकिन तीसरे राउंड में ही उनकी परेशानी शुरू हो सकती है। इस राउंड में शरत का मुकाबला दूसरी सीड और रियो ओलंपिक्स के चैंपियन चिन के मा लोंग से होगए जबकि सत्यन का सामना चौथी सीड जापानी खिलाड़ी तोमोकाजू हरिमोतो से होगा। सत्यन ने हरिमोतो को 2019 में एक बार एशियाई चैंपियनशिप में हराया था। 

शरत चीनी खिलाड़ी के खिलाफ 2011 और 2012 में दो मुकाबलों में कभी नहीं जीत पाए हैं महिला एकल में बत्रा और सुतीर्था मुखर्जी के लिए ड्रा काफी मुश्किल निकला है शनिवार को पहले राउंड में 61वें नंबर की खिलाड़ी मणिका का मुकाबला 99 वीं रैंकिंग की ब्रिटेन की हो टिन टिन से होगा जबकि सुतीर्था का सामना स्वीडन की ऊंची रैंकिंग की खिलाड़ी लिंडा बर्गस्ट्रॉर्म से होगा। 
 

.
.
.
.
.