Sports

नई दिल्ली : ओलंपिक में आठ बार के चैंपियन भारत ने दो चरण वाले एफआईएच पुरुष क्वालीफायर्स के दूसरे मैच में शनिवार को यहां रूस को 7-1 (दो मैचों का कुल योग 11-3) से हराकर अगले साल तोक्यो में होने वाले खेलों के लिये क्वालीफाई किया। इससे पहले महिला टीम ने अमेरिका को कुल योग में 6-5 से हराकर तोक्यो ओलंपिक में अपनी जगह पक्की थी। विश्व में पांचवें नंबर पर काबिज भारतीय पुरुष टीम ने विश्व में 22वें नंबर के रूस को पहले चरण के मैच में 4-2 से हराया था।

भारत की तरफ से आकाशदीप सिंह (23वें और 29वें मिनट) और रूपिंदर पाल सिंह (48वें और 59वें) ने दो . दो जबकि ललित उपाध्याय (17वें), नीलकांत शर्मा (47वें) और अमित रोहिदास (60वें मिनट) ने एक . एक गोल दागा। रूस ने शुरुआती क्षणों में ही बढ़त बना दी थी। उसकी तरफ से यह गोल अलेक्सी सोबोलेवस्की ने किया था जिससे कुल योग में गोल अंतर केवल एक रह गया था। भारतीय टीम धीरे धीरे लय में आयी लेकिन जब उसने खेल पर नियंत्रण बनाया तो फिर रूस को कोई मौका नहीं दिया।

रूस ने जवाबी हमले करने की अच्छी कोशिश की लेकिन उसे पहले क्वार्टर के बाद कोई सफलता नहीं मिली। भारत ने दूसरे क्वार्टर में बराबरी की। तब ललित ने हार्दिक सिंह के शाट को डिफलेक्ट करके गोल में डाला था। आकाशदीप ने 23वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोल करके भारत को बढ़त दिला दी। इसके बाद भारतीय टीम ने रूस पर दबाव बनाया और मध्यांतर से एक मिनट पहले आकाशदीप ने अपना दूसरा गोल दाग दिया। मध्यांतर तक भारत के पास कुल योग में 7-3 की मजबूत बढ़त थी।

मध्यांतर के बाद पांचवें मिनट में रूसी टीम ने बहुत अच्छा मूव बनाया लेकिन अलेक्सांद्र स्कीपेरस्की करीबी अंतर से गोल करने से चूक गये। रमनदीप सिंह ने भी 44वें मिनट में गोल करने का शानदार मौका गंवाया। भारत ने चौथे क्वार्टर में चार गोल दागकर रूस को करारी शिकस्त दी। नीलकांत ने 47वें मिनट में बायें छोर से करारा शाट जमाकर गोल किया जबकि अगले मिनट में रूपिंदर ने पेनल्टी कार्नर को गोल में बदला। भारत ने अंतिम दो मिनट में भी दो गोल दागे। भारत को दो पेनल्टी कार्नर मिले जिन्हें रूपिंदर और रोहिदास ने गोल में बदला।

इससे पहले भारतीय पुरुष हाकी टीम ने पहले मैच में रूस को 4-2 से हरा दिया था। इस मैच में भारतीय टीम भले ही उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सकी लेकिन मनदीप सिंह के दो गोल की बदौलत भारतीय टीम जीतने में सफल हो गई। मनदीप ने 24वें और 53वें मिनट में दो मैदानी गोल दागे जबकि हरमनप्रीत सिंह (5वें मिनट) और एसवी सुनील (48वें मिनट) ने भी भारत की ओर से एक-एक गोल किया।

.
.
.
.
.