Sports

जालन्धर : जकार्ता और पालेमबंग में चल रही 18वीं एशियन गेम्स के 14वें दिन भारत ने एशियन गेम्स के इतिहास में सबसे ज्यादा मैडल जीतने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। गेम्स के 14वें दिन भारत के नाम पर 69 मैडल हो गए थे। ऐसा कर उन्होंने 2010 में हुई एशियाई खेलों में अपना सर्वाधिक पदक 65 लाने का रिकॉर्ड तोड़ दिया। भारत के लिए एक और खास बात गोल्ड मैडल जीतने से भी जुड़ी रही। भारत अब तक 15 गोल्ड मैडल जीत चुका है। ऐसा कर भारत ने 1951 में हुई पहली एशियाई गेमों में जीते 15 गोल्ड की बराबरी कर ली है। बता दें कि भारत में सिर्फ दो बार यानी 1951 और 1982 में एशियन गेम्स हुई थी। इन गेम्स में भारतीय खिलाडिय़ों ने शानदार प्रदर्शन किया था। 

सर्वाधिक सिल्वर मैडल भी इसी साल आए
PunjabKesari

गोल्ड के बाद अगर सिल्वर मैडल की बात की जाए तो भारत अब तक 23 सिल्वर मैडल जीत चुका है। इससे पहले भारत ने 1982 में हुई एशियाई खेलों में 19 सिल्वर मैडल जीते थे। बता दें कि पिछले एशियाई गेम्स जोकि इयोच्यून में हुई थी, में भारत के हिस्से सिर्फ 10 सिल्वर मैडल आए थे। ऐसे में महज चार सालों में भारत ने दोगुणे से ज्यादा सिल्वर मैडल जीतकर दिखा दिया है कि उनके खिलाड़ी अब कितनी कारीगर हो गए हैं।

एथलैटिक्स में भारत लाया है सर्वाधिक गोल्ड
PunjabKesari

18वीं एशियाई गेम्स में भारत अब तक 15 गोल्ड जीत चुका है। इसमें सर्वाधिक सात एथलेटिक्स इवैंट से ही आए हैं। इसके बाद शूटिंग 2, रैसलिंग 2, ब्रिज 1, रोविंग 1, टैनिस 1, बॉक्सिंग में भारत 1 गोल्ड हासिल कर चुका है। वैसे भी एशियाई गेम्स के इतिहास में भारत ने हमेशा एथलेटिक्स में ही बेहतरीन प्रदर्शन किया है। एथलेटिक्स में भारत अब तक 282 मैडल हासिल कर चुका है। इसमें 74 गोल्ड, 96 सिल्वर, 112 ब्रॉन्ज मैडल शामिल हैं।

रैसलिंग, बॉक्सिंग और शूटिंग में भी मिलते ही मैडल
PunjabKesari

एथलैटिक्स के बाद भारतीय खिलाड़ी रैसलिंग, बॉक्सिंग और शूटिंग में भी अच्छे खासे मैडल ला रहे हैं। इतिहास खंगाला जाए तो भारत रैसलिंग में 9 गोल्ड समेत अब तक 56, बॉक्सिंग में आठ गोल्ड समेत 55 तो शूटिंग में सात गोल्ड समेत 49 मैडल हासिल कर चुका है। इसके अलावा टैनिस में भारत को 32 तो फील्ड हॉकी में अब तक 20 मैडल मिल चुके हैं।

.
.
.
.
.