Sports

सिंगापुर: नए सत्र में अपने पहले खिताब की तलाश में लगी ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप की रजत विजेता भारत की पीवी सिंधु को शनिवार को सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा और इसके साथ ही सिंगापुर ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई। चौथी सीड सिंधू को सेमीफाइनल में दूसरी सीड जापान की नोजोमी ओकुहारा ने मात्र 37 मिनट में 21-7 21-11 से पीटकर खिताबी मुकाबले में जगह बना ली।  

सिंधु ने 2018 के आखिर में आठ शीर्ष खिलाड़यिों का वल्र्ड टूर फाइनल्स टूर्नामेंट जीता था लेकिन 2019 में उनकी खिताब की तलाश अब तक पूरी नहीं हो पाई है। सिंधु मार्च के अंत में अपने घरेलू टूर्नामेंट इंडिया ओपन के सेमीफाइनल तक पहुंची थीं जबकि पिछले सप्ताह वह मलेशिया ओपन के दूसरे दौर में बाहर हो गयी थी। विश्व रैंकिंग में छठे नंबर की भारतीय खिलाड़ी का सिंगापुर ओपन में सफर सेमीफाइनल में समाप्त हो गया। सिंधु मुकाबले में ओकुहारा के सामने कोई चुनौती नहीं पेश कर सकीं। ओकुहारा ने इससे पहले क्वार्टरफाइनल में भारत की सायना नेहवाल को भी हराया था।  

सिंधु का इस हार के बाद ओकुहारा के खिलाफ 7-7 का करियर रिकॉर्ड हो गया है। सिंधु ने पिछले साल वल्र्ड टूर फाइनल्स में ओकुहारा को लगातार गेमों में पराजित किया था और उससे इससे ओकुहारा को विश्व चैंपियनशिप में भी हराया था। लेकिन जापानी खिलाड़ी ने दोनों पराजयों का बदला यहां निकाल लिया। ओकुहारा का खिताब के लिए शीर्ष वरीयता प्राप्त ताइपे की ताई जू ङ्क्षयग से मुकाबला होगा जिहोने अन्य सेमीफाइनल में तीसरी सीड जापान की अकाने यामागुची को 57 मिनट में 15-21 24-22 21-19 से पराजित किया। 

.
.
.
.
.