Sports

नई दिल्ली: मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में भारतीय टीम की जीत में सबसे बड़ी अड़चन इंडीज कप्तान पोलार्ड रहे। वह जब तक क्रीज पर रहे, चौके-छक्कों की बरसात कर टीम इंडिया का सिरदर्द बढ़ाते रहे। उन्होंने लगभग हर भारतीय गेंदबाज की गेंदों पर बड़े शॉट लगाए। लेकिन आखिरकार भुवनेश्वर कुमार उनका विकेट निकालने में सफल हो गए। भुवनेश्वर ने मैच के बाद बताया कि उन्होंने कैसे पोलार्ड को आऊट किया। 

PunjabKesari
भुवनेश्वर बोले- वह (पोलार्ड) एक अच्छा खिलाड़ी है जब वह आऊट होकर पवेलियन की ओर गया तो यह मेरे लिए संतोषजनक लम्हा था। आपको पता है कि पोलार्ड बहुत-सी सीमाएं पार कर सकते हैं। उन्हें बाहर निकालना संतोषजनक था। बकौल भुवनेश्वर- पोलार्ड को आप लंबाई की गेंदें नहीं डाल सकते। यॉर्कर और बाउंसर गेंदबाजी करने की जरूरत है। वह इतना शक्तिशाली है कि अगर आपको जरा सा भी ढीली गेंद देंगे तो वह आपको सजा देगा। 

PunjabKesari
भुवनेश्वर ने इसके साथ ही रात में गेंदबाजी पर होने वाली कठिनाइयों पर भी बात की। उन्होंने कहा कि दूसरी पारी में गेंदबाजी करना कठिन होता है। गेंद को पकडऩा मुश्किल है, और गेंद भी यहां बहुत यात्रा करती है। बहरहाल, अच्छा लग रहा है। जब आप टी-20 इंटरनेशनल में अच्छा करते हैं, तो अच्छा महसूस होता है। एकदिवसीय मैचों में भी ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद है।

.
.
.
.
.