Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : टी20 विश्वकप में इंग्लैंड की टीम मजबूत दावेदारों में से मानी जा रही है। पर इंग्लैंड टीम के लिए मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। क्योंकि इंग्लैंड की टी20 विश्वकप टीम में कई स्टार खिलाड़ी मौजूद नहीं हैं जो परेशानी का कारण बनी हुई है। वहीं इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन के बल्ले से रन नहीं निकल रहे हैं और वह खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं। हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में मोर्गन ने कहा कि अगर टीम को विश्वकप जिताने के लिए मुझे टीम से बाहर भी बैठना पड़ा तो मैं उसके लिए तैयार हूं।

आईपीएल में कोलकाता के लिए कप्तानी कर रहे इयोन मोर्गन दूसरे चरण में रन बनाने के लिए तरसते रहे। हालांकि उन्होंने अपनी टीम को फाइनल में पहुंचा दिया पर वह बल्ले से कोई कमाल नहीं दिखा पाए। मोर्गन ने एक इंटरव्यू में कहा कि भले ही मेरे बल्ले से रन नहीं निकल रहे हैं। पर मेरी कप्तानी काफी अच्छी रही है। मैं इंग्लैंड को टी20 विश्वकप जिताना चाहता हूं इसके लिए अगर मैं भी रास्ते में आ रहा हूं तो मुझे टीम से बाहर निकाल दिया जाना चाहिए।

मोर्गन ने कहा कि मैंने हर बार वापसी की है। अगर मैं ऐसा करने में सक्षम नहीं होता तो आज यहां तक नहीं पहुंच पाता। टी20 फॉर्मेट ही ऐसा है। आपको हर गेंद पर जोखिम लेना पड़ता है। वहीं जिस स्थान पर मैं बल्लेबाजी के लिए आता हूं तो मुझे बेहद कम गेंदे मिलती हैं खेलने को तो इसलिए मैं जोखिम उठाने से नहीं डरता। मैं ऐसी चीजों को ही सहते हुए यहां तक पहुंचा हूं।

इंग्लैंड की टीम ने साल 2019 में मोर्गन की कप्तानी में ही पहली बार वनडे का खिताब अपने नाम किया था। उसके बाद से ही मोर्गन खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं। उनके बल्ले से कुछ खास रन भी नहीं निकल रहे हैं। मोर्गन ने पिछले 7 टी20 मैचों में मात्र 82 रन बनाए हैं। वहीं आईपीएल में वह बस 133 रन ही बना पाने में कामयाब हो पाए थे।
 

.
.
.
.
.