Sports

बर्मिंघम : भारत के सौरव घोषाल ने पुरुष एकल स्क्वाश के कांस्य पदक के एकतरफा मुकाबले में बुधवार को यहां इंग्लैंड के दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी जेम्स विल्सट्रॉप को सीधे गेम में 3-0 से हरा दिया। दुनिया के 15वें नंबर के खिलाड़ी घोषाल ने मेजबान देश के दुनिया के 24वें नंबर के खिलाड़ी के खिलाफ 11-6, 11-1, 11-4 से आसान जीत दर्ज की। 

राष्ट्रमंडल खेलों में स्क्वाश एकल स्पर्धा में भारत का यह पहला पदक है। घोषाल का राष्ट्रमंडल खेलों में यह दूसरा पदक है। उन्होंने 2018 में गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में दीपिका पल्लीकल के साथ मिलकर मिश्रित युगल का रजत पदक जीता था। घोषाल ने विल्सट्रॉप के खिलाफ शुरुआत से ही दबदबा बनाया और इंग्लैंड के खिलाड़ी के पास उनके खेल का कोई जवाब नहीं था। 

विल्सट्रॉप ने पहले गेम में घोषाल को टक्कर देने की कोशिश की लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने उन्हें अंक बनाने के अधिक मौके नहीं दिए। दूसरे गेम में तो विल्सट्रॉप की भूमिका सिर्फ एक दर्शक जैसी रही और मेजबान देश का खिलाड़ी पूरे गेम में सिर्फ एक ही अंक जुटा पाया। तीसरे गेम में भी स्थिति में अधिक बदलाव देखने को नहीं मिला और घोषाल ने दबदबा कायम रखते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया। 

पूर्व राष्ट्रीय कोच और मौजूदा टीम के मैनेजर साइरस पोंचा ने कहा, ‘पहला गेम 18 मिनट चला और कड़ा मुकाबला देखने को मिला। घोषाल कम उम्र का होने के कारण दोनों खिलाड़ियों के बीच अधिक ताकतवर था।' उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि कल सेमीफाइनल में वह और बेहतर खेला था। वर्षों की कड़ी मेहनत से उसने यह हासिल किया है। यह भारतीय स्क्वाश के लिए शानदार दिन है।' 

इससे पहले अनुभवी जोशना चिनप्पा और हरिंदर पाल सिंह संधू की मिश्रित युगल जोड़ी ने प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। जोशना और संधू की जोड़ी ने श्रीलंका की येहेनी कुरुप्पु और रविंदु लक्सीरी की जोड़ी को 8-11 11-4 11-3 से हराया। जोशना और संधू की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उन्होंने काफी गलतियां करते हुए पहला गेम गंवा दिया लेकिन भारतीय जोड़ी ने इसके बाद वापसी करते हुए अगले दो गेम आसानी से जीतकर मुकाबला अपने नाम किया। सुनयना कुरुविला ने महिला स्क्वाश प्लेट फाइनल में गयाना की फंग ए फैट पर आसान जीत दर्ज की। तेईस वर्षीय सुनयना ने गयाना की अपनी प्रतिद्वंद्वी को 11-7, 13-11, 11-2 से शिकस्त दी। 

.
.
.
.
.