Tennis

शंघाईः पेंग शुहाई ने किसी भी तरह की भ्रष्ट गतिविधि में संलग्न रहने का खंडन करते हुए आज कहा कि वह टेनिस में वापसी करेगी। पेंग पर आरोप है कि उन्होंने विंबलडन से अपनी युगल जोड़ीदार को हटने के लिए मजबूर करने का प्रयास किया था जिसके लिए उन पर छह महीने का प्रतिबंध और 10,000 डालर का जुर्माना लगाया गया।

महिला युगल में दो बार की ग्रैंडस्लैम चैंपियन 32 वर्षीय पेंग को बुधवार को टेनिस की भ्रष्टाचार निरोधक संस्था टेनिस इंटिग्रिटी यूनिट (टीआईयू) ने सजा सुनाई थी। टीआईयू ने इसमें शामिल दूसरी महिला खिलाड़ी का नाम नहीं बताया लेकिन सोशल मीडिया पर आरोपों का खंडन करते हुए पेंग ने बेल्जियम की एलिसन वान उइतवान्स्क के नाम का जिक्र किया।           
Sports

विंबलडन में 2013 और फ्रेंच ओपन में 2014 में खिताब जीतने वाली पेंग ने ट्विटर के समान चीनी सोशल नेटर्विकंग साइट वीबो पर लिखा, ‘‘अपने 20 साल के पेशेवर करियर में मैंने कभी अपनी जोड़ीदार को मैच से हटने के लिये मजबूर नहीं किया।’’ उन्होंने लिखा, ‘‘युगल से हटने का फैसला पूरी तरह से उसका था। हमने चोट का बहाना बनाकर मैच से हटने के लिए कभी किसी को धनराशि नहीं दी।’’ पेंग ने कहा, ‘‘मैं संन्यास नहीं लूंगी। मैं अपने वकील से चर्चा करेगी तय करूंगी कि (प्रतिबंध के खिलाफ) अपील करनी है या नहीं।’’      

.
.
.
.
.