Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: भारत की इंग्लैंड के हाथों हार से शोएब अख्तर भी निराश हैं क्योंकि इससे पाकिस्तान की सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को झटका लगा है। इंग्लैंड के लिए यह करो या मरो जैसा मैच था जिसमें वह भारत को 31 रन से हराने में सफल रहा। भारत की टूर्नामेंट में यह पहली हार है। 

PunjabKesari
अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘यह विभाजन के बाद पहला अवसर था जबकि हम भारत का समर्थन कर रहे थे। मुझे पूरा विश्वास है कि भारत ने अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया लेकिन उनके सर्वश्रेष्ठ से भी पाकिस्तान को मदद नहीं मिली और अब हम उम्मीद पर टिक गए हैं।' उन्होंने कहा, ‘यह पहली बार था कि पूरा उपमहाद्वीप पाकिस्तानी, बांग्लादेशी, श्रीलंकाई सभी भारत की इंग्लैंड पर जीत के लिए दुआ कर रहे थे। लेकिन लगता है कि हमारे दुआएं भारत तक नहीं पहुंची और वे मैच हार गए।' भारत अगर इंग्लैंड को हरा देता तो पाकिस्तान की सेमीफाइनल में पहुंचने की राह आसान हो जाती। इंग्लैंड ने जीत से अपने अंकों की संख्या 10 पर पहुंचा दी है जो पाकिस्तान से एक अंक अधिक है। 

.
.
.
.
.