International

वेटिकन सिटीः पोप फ्रांसिस ने बुधवार को धर्मसभा में पहली बार शिरकत करने आए चीन के दो कैथलिक बिशप का ‘गर्म जोशी’ से स्वागत किया। इससे पहले चीन और वेटिकन के बीच ऐतिहासिक समझौता हुआ था। पोप ने महीने भर चलने वाली सलाहकार निकाय की बैठक की शुरुआत में दिए गए अपने भाषण में कहा कि हमारे साथ आज पहली बार चीन के दो बिशप हैं।उन्होंने कहा कि हम उनका गर्म-जोशी से स्वागत करते हैं। उनकी मौजूदगी से बिशप-गण का धर्मसमाज और भी नुमाया हुआ है।

वेटिकन और चीन 22 सितंबर को एक अस्थायी सहमति पर पहुंचे थे जिसके तहत पोप ने उन सात पादरियों को मान्यता दे दी थी जिन्हें बीजिंग ने बिना वेटिकन की मंजूरी के पादरी बना दिया था। यह समझौता कैथलिक चर्च और दुनिया के सबसे ज्यादा आबादी वाले देश के बीच संबंधों को सामान्य बनाने का रास्ता तैयार कर सकता है। 

.
.
.
.
.