Sports

नई दिल्लीः दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने फिरोजशाह कोटला मैदान के एक गेट का नाम भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग के नाम पर रखने का फैसला किया है। कोटला मैदान के गेट संख्या दो को 31 अक्तूबर को सहवाग के नाम पर रखा जाएगा। इसके एक दिन बाद भारतीय टीम को यहां न्यूजीलैंड के खिलाफ श्रृंखला का पहला टी-20 मैच खेलना है। डीडीसीए के प्रशासक न्यायाधीश (सेवानिवृत्त) विक्रमजीत सिंह ने एक बयान में कहा, ‘‘ पूर्ववर्ती प्रबंधन ने सहवाग की उपलब्धियों को ध्यान में रखते हुये गेट संख्या दो उनके नाम पर रखने का वादा किया था जिसे मैं प्रभाव में ला रहा हूं।’’  

उन्होंने कहा, ‘‘ यह दिल्ली की टीम में अहम भूमिका निभाने वाले क्रिकेटरों के योगदान को मान्यता देने की कई अन्य पहल की शुरूआत है। डीडीसीए के अन्य दिग्गजों के नामों का आकलन और सिफारिश करने के लिए समिति गठित की गई है। इनमें वे दिग्गज शामिल हैं जिनके योगदान को मान्यता मिलनी चाहिए और स्टेडियम के विभिन्न हिस्सों में यह दिखना चाहिए। ’’  

दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में शुमार सहवाग ने भारत के लिए 104 टेस्टों में 8586 रन और 251 वनडे में 8273 रन बनाए। उनके नाम टेस्ट मैचों में दो तिहरे शतक और वनडे में एक दोहरा शतक दर्ज है। उनका टेस्ट में सर्वाधिक स्कोर 319 रन और वनडे में 219 रन हैं।   सहवाग गत 20 अक्टूबर को 39 साल के हुए थे और डीडीसीए ने उनके नाम पर कोटला के एक गेट का नाम रखने का फैसला कर उन्हें जन्मदिन का शानदार तोहफा दिया है। यह पहला मौका होगा जब कोटला के किसी गेट का नाम क्रिकेटर के नाम पर रखा जाएगा।   

जस्टिस सेन ने कहा कि दिल्ली की क्रिकेट में अभूतपूर्व योगदान देने वाले क्रिकेटरों को मान्यता देने की दिशा में यह पहली पहल है। एक समिति का गठन किया गया है जो डीडीसीए के अन्य दिग्गज क्रिकेटरों की उपलब्धियों का मूल्यांकन करेगी और उनके नामों की सिफारिश करेगी जिससे स्टेडियम के विभिन्न हिस्सों पर उनके योगदान को मान्यता देते हुए प्रदर्शित किया जा सकेगा।