Sports

ओडेंसे: भारत ने मौजूदा सत्र में शानदार सफलता हासिल की है जिसे देखते हुए किदांबी श्रीकांत का मानना है कि अगले साल होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में देश के पास बैडमिंटन स्पर्धा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का बेहतरीन मौका होगा।  डेनमार्क ओपन में हमवतन शुभांकर डे के खिलाफ अपने पहले मैच से पूर्व श्रीकांत ने कहा, ‘‘पिछली बार हमने अच्छी संख्या में पदक जीते थे और अब हम चार साल पहले की तुलना में कहीं बेहतर खेल रहे हैं और इस बार हमारे पास अधिक पदक जीतने का बेहतरीन मौका है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘पुरुष एकल के अलावा मिश्रित युगल और पुरुष युगल खिलाड़ी भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। इसलिए इस बार हमारी टीम काफी अच्छी है।’’ श्रीकांत को डेनमार्क ओपन सुपर सीरीज प्रीमियर के क्वार्टर फाइनल में स्थानीय खिलाड़ी और विश्व चैंपियन विक्टर एक्सेलसन से भिडऩा पड़ सकता है और इस भारतीय खिलाड़ी ने कहा कि पिछले तीन मुकाबलों में सीधे गेम में हार के बावजूद वह परेशान नहीं हैं।  इस भारतीय खिलाड़ी ने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर खिलाड़ी के रूप में उसने प्रगति की है। मैंने दो बार उसके खिलाफ जीत दर्ज की, दोनों बार स्विस ओपन और इंडिया ओपन के फाइनल में और पिछली तीन बार वह जीत दर्ज करने में सफल रहा।’’

श्रीकांत ने कहा, ‘‘मैं एक बार दुबई में उससे खेला जो 2015 में मेरा लगातार पांचवां टूर्नामेंट था और मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाया। इसके बाद मैं इस साल इंडिया ओपन में उससे खेला। मैं चोट के बाद वापसी कर रहा था और वह अपने खेल के शीर्ष पर था और उसने मुझे पछाड़ दिया। पिछली बार हम जापान में भिड़े और पहले गेम में 17-17 की बराबरी के दौरान इसे कोई भी जीत सकता था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं कहना चाहूंगा कि मैंने अच्छी तरह उसका सामना किया और मुझे कोई मलाल नहीं है तथा अगली बार जब मैं उससे खेलूंगा तो यह अलग मैच होगा और मैं अतीत के नतीजों के बारे में सोचकर दबाव नहीं लेना चाहता।’’