Sports

नई दिल्ली(राहुल): मंगलवार को मुंबई और पुणे के बीच हुए क्वालीफायर-1 मुकाबले में मुंबई को अपने ही होम ग्राउंड पर 20 रन से हार का सामना करना पड़ा। यह मैच उस समय पूरी तरह से एक तरफा देखने को मिला, जब ओपनर लेंडल सिमंस के आउट होते ही बाकी खिलाड़ी भी कुछ खास ना करते हुए पवेलियन लौटते नजर आए। मुंबई की हार का कारण कहीं न कहीं कप्तान रोहित शर्मा को गलत आउट देना भी रहा। अगर वह अंपायर के गलत फैसले का शिकार ना होते तो अच्छी शुरुआत में दिख रही मुंबई पार्थिव पटेल-रोहित शर्मा के दम पर जीत सकती थी।

कहां हुई अंपायर से गलती
जब रोहित शर्मा छठे ओवर की पहली गेंद का सामना करने आए तो गेंदबाज वाशिंगटन सुंदर की गेंद उनके बल्ले का भारी किनारा लेने के बाद उनके पैड से लगी और वो स्टंप्स के सामने थे। ओर इतनी बड़ी एज लगने के बावजूद अंपायर ने उन्हें आउट करार दे दिया। यह निर्णय देख खुद रोहित शर्मा को विश्वास नही हुआ और वह असहमति में अपना सर हिलाते हुए मैदान से बाहर चले गए। अगर अंपायर उन्हें गलत आउट ना देते तो मुंबई पुणे से आसानी से नहीं हारता।  

पहले भी गलत फैसले का शिकार हुए थे रोहित
यह कहना गलत नही होगा की अंपायर के उस गलत निर्णय से पूरे मैच का पासा पलट गया। इस आईपीएल में अंपायरिंग का स्तर काफी गिर गया और खासकर भारतीय अंपायरों ने तो बेहद घटिया अंपायरिंग की है। उम्मीद है बीसीसीआई इस मामले में संज्ञान लेगी। गौरतलब हो कि रोहित शर्मा 9 अप्रैल को कोलकाता के खिलाफ खेले गए पहले मैच के दौरान भी अंपायर के गलत फैसले का शिकार हुए थे। उस समय मैच के 10वें ओवर के दौरान रोहित सुनील नारायण की गेंद पर 3 रन पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए थे।