Sports

नई दिल्ली: फुटबॉल की विश्व संचालन संस्था फीफा ने स्पष्ट किया कि वह भारत सरकार के अंडर-17 विश्व कप के उद्घाटन समारोह के आयोजन की योजना से सहज नहीं है और उसने कहा कि इसके बजाय इस राशि को खेल पर खर्च किया जाना चाहिए। शुरू से ही विश्व संस्था और स्थानीय आयोजन समिति इस बात पर जोर दे रही है कि पूरी दुनिया में आयोजित होने वाले फीफा टूर्नामेंट का उद्घाटन समारोह नहीं कराया जाता लेकिन खेल मंत्रालय जिद कर रहा था कि अगले महीने होने वाले इस टूर्नामेंट का उद्घाटन समारोह कराया जाए।

खेल मंत्रालय उद्घाटन समारोह इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के शुरू होने से एक दिन पहले पांच अक्तूबर को या फिर छह अक्तूबर को मैच शुरू होने से कुछ घंटे पहले करा दिया जाए। यह पूछने पर कि विश्व संस्था सरकार के उद्घाटन समारोह कराने की योजना के बारे में क्या सोचती है तो फीफा के टूर्नामेंट प्रमुख जैमी यार्जा ने स्पष्ट किया कि इस तरह के विचार का स्वागत नहीं किया गया। यार्जा ने कहा, ‘‘फीफा और फीफा अंडर-17 विश्व कप की स्थानीय आयोजन समिति आगामी टूर्नामेमंट को सफल बनाने के लिये भारत सरकार के साथ काफी करीब से बात कर रही है।

इस दौरान फीफा को भारत सरकार की उद्घाटन समारोह कराने की दिलचस्पी के बारे में भी सूचित किया गया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पिछले टूर्नामेंट को देखते हुए और खेल के बेहतर हित को ध्यान में रखते हुए हमारा मानना है कि मुख्य ध्यान फुटबाल और खिलाडिय़ों पर ही रखा जाये और उद्घाटन समारोह के लिए रखी गयी राशि को युवाओं पर और देश में फुटबाल के विकास पर लगाया जाए। ऐसा करना अब इसलिए भी जरूरी है क्योंकि एआईएफएफ ने फुटबाल के भविष्य के लिये मजबूत नींव रखने की योजना बनायी है। ’’