Sports

टिबीलिसी ,जॉर्जिया ( निकलेश जैन ) फीडे विश्व शतरंज कप में भारत के लिए आज का टाईब्रेक भी थोड़ा मुश्किल साबित हुआ और कल आनंद के बाहर होने के बाद आज पेंटाला हरिकृष्णा और अधिबन भास्करन की भी विश्व कप से विदाई हो गयी । भारत के लिए वैसे भी मुश्किल बात यह की ठीक विश्व कप 2015 की भाति इस बार भी सेथुरमन और हरिकृष्णा के बीच मैच था और परिणाम ठीक 2015 वाला रहा और सेथुरमन नें हरिकृष्णा से पहले दो क्लासिकल मैच ड्रॉ खेले और फिर पहला रैपिड ड्रॉ रहने के बाद दूसरे  रैपिड में उन्हे पराजित कर दिया । इस प्रकार उन्होने 2.5-1.5 से यह मुक़ाबला जीतकर अगले रौउंड में प्रवेश कर लिया है ।

PunjabKesari

अधिबन आज टाईब्रेक के दो रैपिड मुकाबलो मे पहला दो ड्रॉ करने मे कामयाब रहे लेकिन दूसरा हारकर वह भी क्लासिकल और रैपिड के कुल नाक मिलाकर 2.5-1.5 से पिछड़ कर विश्व कप से बाहर हो गए ।  और अब सिर्फ विदित गुजराती और सेथुरमन ही तीसरे दौर में भारतीय तिरंगे का प्रतिनिधित्व करेंगे । इस बीच आनंद नें दोनों खिलाड़ियों को आगे के मैच के लिए अपनी शुभकामनाए दी है । अगले राउंड में विदित चीन के डींग लीरेंन से मुक़ाबला करेंगे तो सेथुरमन को नीदरलैंड के अनीश गिरि का सामना करना होगा । 

आपको बता दे की फीडे विश्व शतरंज कप की शुरुआत 40 देशो के 128 खिलाड़ियों के साथ हुई थी और दो दौर के बाद अब सिर्फ अंतिम 32 खिलाड़ी बाकी रह गए है । इसमें दरअसल सबसे पहले खिलाड़ियों के बीच दो क्लासिकल मैच का मुक़ाबला होता है और अगर इसमें से कोई 1 ड्रॉ और एक जीत के साथ  कम से कम 1.5 अंक बना लेता है तो वह अगले दौर में पहुँच जाता है और सामने वाले खिलाड़ी को बाहर का रास्ता देखना पड़ता है जबकि अगर दो क्लासिकल मैच के बाद भी परिणाम नहीं आता मसलन स्कोर 1-1 रहता है तो फिर उनके बीच रैपिड (25 - 25 मिनट )और ब्लिट्ज़ (5-5 मिनट ) के मैच खेलकर टाईब्रेक खेला जाता है और विजेता का निर्णय किया जाता है ।