Sports

नई दिल्ली: अनुभवी आफ स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि पाकिस्तान के खिलाफ चैम्पियंस ट्राफी फाइनल में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से मिली हार के लिए भारतीय गेंदबाज दोषी हैं जिन्होंने अहम मौके पर निराश किया।  हरभजन ने कहा कि बीच के आेवरों में काफी रन बने और स्पिनर विकेट लेने में नाकाम रहे जिससे पाकिस्तान ने बड़ा स्कोर बना लिया। उन्होंने आईसीसी में अपने कालम में लिखा कि हमारे गेंदबाजों ने जरूरत के समय निराश किया। हमने शुरूआत अच्छी नहीं की और स्पिनर काफी महंगे साबित हुए। उन्हें विकेट भी नहीं मिले जो काफी महंगा साबित हुआ। 

उन्होंने कहा कि मारा क्षेत्ररक्षण भी अच्छा नहीं था। यह एेसा प्रदर्शन था कि हम कोशिश करने की बजाय बस चमत्कार की उमीद कर रहे थे। बीच के आेवर महंगे साबित होने से काफी नुकसान हुआ। वे पहली ही गेंद से आक्रमण के लिए उतरे थे और लगता है कि अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हमारे लिए ही बचाकर रखा था। हरभजन ने यह भी कहा कि फखर जमां को जसप्रीत बुमरा की नोबाल का खामियाजा टीम को काफी भुगतना पड़ा। जमां ने 114 रन बनाकर पाकिस्तान की जीत की नींव रखी। 

उन्होंने कहा फाइनल के निर्णायक मोड़ में से एक जसप्रीत बुमरा की नोबाल थी जिस पर फखर जमां का कैच विकेट के पीछे एम एस धोनी ने लपका था। उस समय कोहली के चेहरे के भाव से सब कुछ बयां हो गया था। जमां उस समय तीन रन पर थे लेकिन इसके बाद उसने कोई मौका नहीं दिया।