Sports

नई दिल्ली : इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज केविन पीटरसन का मानना है कि जो रूट और विराट कोहली के बीच तुलना करना उचित नहीं है क्योंकि भारतीय टेस्ट कप्तान आंकड़ों के मामले में यार्कशर के बल्लेबाज से मीलों आगे है। बेहतरीन फार्म में चल रहे कोहली की अक्सर इंग्लैंड के बल्लेबाज जो रूट से तुलना की जाती है जिसके बारे में पीटरसन का कहना है कि यह उचित तुलना नहीं है।

पीटरसन ने ‘द क्रिकेटर’ पत्रिका से कहा, ‘‘कोहली बेहतरीन बल्लेबाज है। वह हमेशा चुनौती के लिए तैयार रहता है। रूट के आंकड़े अच्छे हैं लेकिन जो की तुलना विराट से करना अनुचित है क्योंकि विराट के आंकड़े बेजोड़ हैं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘वह इतना आक्रामक होकर खेलता है कि कभी कभी लगता है कि क्या वह गंभीर है। जिस तरह से वह अपनी टीम के लिए बड़ी पारियां खेलता है वह अद्भुत है। ’’ कोहली का एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में लक्ष्य का पीछा करते हुए औसत 60 से ऊपर है।

इस संदर्भ में पीटरसन ने कहा, ‘‘मैंने टीवी खोला और उसे धर्मशाला में (न्यूजीलैंड के खिलाफ) नाबाद 85 रन बनाते हुए देखा। यह शानदार पारी थी। उसके पास स्ट्राइक रोटेट करने और गेंद को सीमा रेखा तक पहुंचाने की अद्भुत क्षमता है। ’’ इंग्लैंड को अब भारत के खिलाफ रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा और अमित मिश्रा की स्पिन त्रिमूर्ति से जूझना होगा। अश्विन ने हाल में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत की 3-0 से जीत में 27 विकेट लिए थे।

पीटरसन ने कहा, ‘‘अश्विन अच्छा गेंदबाज है। वह अपने वैरीएशन का बहुत अच्छा उपयोग करता है। वह हमेशा आक्रमण पर ध्यान देता है। जब मैं उसके खिलाफ खेला तो मैंने उसका दूसरा समझ लिया और इसलिए मुझे दिक्कत नहीं हुई लेकिन यदि इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने दूसरा नहीं समझा तो उन्हें परेशानी होगी। कम उछाल से चुनौती और बढ़ जाएगी लेकिन भारत में खेलने पर यह चुनौती का हिस्सा होता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘बल्लेबाज को भारत में गेंद को सीमा तक पहुंचाने के विकल्प ढूंढने पड़ते हैं। यह स्ट्राइक रोटेट करने और और क्षेत्ररक्षण के आकलन से जुड़ा है। मुझे भारत में खेलने में दिक्कत नहीं हुई। मैंने यहां खेलने का आनंद उठाया। मैंने यहां काफी शतक बनाए हैं। ’’ भारत और इंग्लैंड के बीच पहला टेस्ट मैच नौ नवंबर से राजकोट में खेला जाएगा।