Sports

 मुंबई: अगले साल फरवरी में आस्ट्रेलिया को चार टेस्ट की श्रृंखला के लिए भारत का दौरा करना है और पूर्व कप्तान एडम गिलक्रिस्ट ने कहा कि हाल के नतीजों को देखते हुए आस्ट्रेलिया को उन बड़े लम्हों की पहचान करने में कड़ी मेहनत करनी होगी जहां उनके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी रही है। एक समय टेस्ट क्रिकेट पर राज करने वाली आस्ट्रेलियाई टीम को अपने पिछले चार टेस्ट में शिकस्त का सामना करना पड़ा है जिसमें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पिछला घरेलू टेस्ट भी शामिल है।
 

गिलक्रिस्ट को लगता है कि आस्ट्रेलियाई टीम ने अधिकांश मौके पर विरोधी टीम को मैच में वापसी करने का मौका दिया है।  गिलक्रिस्ट ने आज साक्षात्कार में कहा, ‘‘आस्ट्रेलिया को डरना नहीं चाहिए। वे उस टेस्ट मैच (दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पर्थ में) काफी हद तक दबदबे वाली स्थिति में थे। यहां तक कि श्रीलंका में कम से कम दो टेस्ट मैच में वे सचमुच में दबदबे वाली स्थिति में थे और उन्होंने विरोधी टीम को वापसी का मौका दिया। इसलिए यह उनकी सबसे बड़ी चिंता है और उन्हें इस पहलू पर कड़ी मेहनत करनी होगी।’’  

उन्होंने कहा, ‘‘आस्ट्रेलिया को खेल में एेसे लम्हों की पहचान करने की जरूरत है जहां उन्हें कड़ी मेहनत करने की जरूरत है और विरोधी को वापसी का मौका नहीं दे। किसी भी देश में सभी अच्छी टीमें यही करती हैं। आस्ट्रेलियाई टीम इस तथ्य से आत्मविश्वास ले सकती है कि वे सभी विरोधियों से प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम हैं और वे एेसा कर रहे हैं लेकिन वे बड़े लहें गंवा रहे हैं।’’