Sports

नई दिल्लीः क्रिकेट एक ऐसा खेल हैं जहां सिर्फ ज्यातार रिकाॅर्ड्स के बारे में ही जिक्र किया जाता है। आए दिन कई खिलाड़ी रिकाॅर्ड बनाते हैं तो कई तोड़ते हैं। कुछ ऐसे रिकाॅर्ड्स भी हैं जो लंबे अर्से से नहीं टूटे। आइए जानें क्रिकेट इतिहास के उन 7 रिकाॅर्ड्स के बारे में जिनका टूटना अब मुश्किल ही नहीं नामुमकिन सा हो गया है।

1. जिम लेकर
इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर जिम लेकर के नाम ऐसा रिकाॅर्ड है जो पिछले 62 साल बाद भी कोई नहीं तोड़ पाया है। 1956 में जिम लेकर ने मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में  ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक मैच में 20 विकेट निकाले थे। उन्होंने पहली पारी में 9, जबकि दूसरी पारी में 10 विकेट निकाले। उनका यह रिकाॅर्ड टूटना मुश्किल है।

2. सचिन तेंदुलकर
क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर के नाम कुल 100 शतक दर्ज हैं। उन्होंने वनडे में 49 आैर टेस्ट में 51 शतक लगाए हैं। सचिन के इस रिकॉर्ड को शायद ही कोई बल्लेबाज तोड़ पाएगा, क्योंकि उनके आसपास भी कोई खिलाड़ी माैजूद नहीं है।

PunjabKesari

3. रोहित शर्मा
भारतीय टीम के ओपनर रोहित शर्मा अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में तीन बार दोहरा शतक ठोक चुके हैं। किसी भी बल्लेबाज के लिए इस फाॅरमेट में 1 दोहरा शतक लगाना भी बहुत बड़ी बात होती है। वहीं रोहित ने 3 बार 200 से ज्यादा रनों की पारियां खेल कभी ना टूटने वाला रिकाॅड बना दिया है।

4. इरफान पठान
भारत के तेज गेंदबाज इरफान पठान ने टेस्ट क्रिकेट में वो कारनामा किया जो शायद ही कोई गेंदबाज कभी कर सके। दरअसल, इरफान के नाम टेस्ट मैच के पहले ही ओवर में हैट्रिक लेने का रिकाॅर्ड है। 2006 में इरफान ने पाकिस्तान के यूनिस खान, मोहम्मद युसूफ और सलमान बट को लगातार तीन बॉल पर ऑउट किया था।

5. डॉन ब्रेडमैन
ऑस्ट्रेलिया के सर डॉन ब्रेडमैन दुनिया के महान बल्लेबाजों में से एक हैं। टेस्ट क्रिकेट के महानतम खिलाड़ी ब्रेडमैन के नाम 52 टेस्ट मैच में कुल 6996 रन हैं, जिसमें 12 दोहरे शतक भी शामिल हैं।  ब्रेडमैन ने यह रन 99.94 की शानदार औसत से बनाए थे।क्रिकेट में अन्य रिकॉर्ड टूट सकते हैं लेकिन शायद ही कोई टेस्ट क्रिकेट में इस औसत से रन बना पाएगा।

PunjabKesari

6. ब्रायन लारा
विंडीज के महान बल्लेबाज रहे ब्रायन लारा के बल्ले से टेस्ट क्रिकेट की सबसे बड़ी पारी निकली है। उन्होंने ठीक 14 साल पहले 12 अप्रैल, 2004 को एंटीगुआ में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट की सबसे बड़ी नाबाद 400 रन की पारी खेली थी। माैजूदा समय में किसी भी बल्लेबाज द्वारा 400 रनों की पारी खेलना आसान नहीं है।

7. मुथैया मुरलीधरन 
श्रीलंका के महान स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन ने अपने 19 साल के क्रिकेट करियर में 133 टेस्ट और 350 एकदिवसीय मैचों को मिलाकर कुल 483 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले, जिसमें उन्होंने टेस्ट में 800 और वनडे में 534 विकेट लिए। कुल मिलाकर मुरली ने 1334 विकेट अपने नाम किए जिसे तोड़ पाना लगभग असंभव है।


 

.
.
.
.
.