Cricket

वेलिंगटन: टेस्ट क्रिकेट में आज अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले भारतीय गेंदबाज इशांत शर्मा ने कहा कि वह कुछ समय से लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं लेकिन लोगों का उनके प्रदर्शन पर ध्यान अभी गया है क्योंकि इन दिनों वह विकेट झटक रहे हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट के पहले दिन इशांत ने 51 रन देकर छह विकेट झटके। यह उनका छह विकेट का लगातार दूसरा प्रदर्शन है, उन्होंने आकलैंड में भी पहली पारी में 134 रन देकर छह विकेट चटकाए थे, जिससे उन्होंने इस
मैच में नौ विकेट झटके थे लेकिन भारत 40 रन से मैच हार गया था।

इशांत ने अपनी शानदार गेंदबाजी के बाद कहा, ‘‘मैं वही गेंदबाज हूं जिसने 2007-08 में रिकी पोंटिंग के खिलाफ गेंदबाजी की थी। वही गेंदबाज हूं जिसे 2011 में मैन आफ द सीरीज चुना गया था। मैं वही गेंदबाज हूं। यह पिच पिछले मैच की तरह ही थी। मैं अपनी गेंदबाजी का काफी आकलन नहीं करता हूं क्योंकि इस समय, मैच से पहले, यह सिर्फ मानसिक सोच के बारे में है।’’ जब उनसे पूछा गया कि क्या 70 के करीब वन डे और 55 टेस्ट खेलने से उन्हें एक बेहतर गेंदबाज बनने में मदद मिली है तो उन्होंने कहा, ‘‘आप केवल अनुभव से ही सीखते हो। मैंने अपनी जिंदगी में काफी उतार चढ़ाव देखे हैं। जब कोई महत्वपूर्ण दौरा होता है, मुझे बाहर कर दिया जाता है। जब कोई आसान दौरा होता तो मैं टीम में होता हूं। यह मेरे लिए बहुत कठिन चीज है।’’