Sports

नई दिल्ली : आई.पी.एल.-6 समाप्त होने के बाद जब यह घोषणा हुई थी कि आई.पी.एल.-7 की नीलामी में सभी खिलाडिय़ों को रखा जाएगा तो उम्मीद की जा रही थी कि दिग्गज स्टार खिलाड़ी नई टीमों की तरफ से खेलते दिखाई देंगे लेकिन रिटेनरशिप ने आई.पी.एल.-7 से यह नयापन छीन लिया।

आई.पी.एल.-7 की नीलामी हालांकि 12 फरवरी को होनी है लेकिन इस नीलामी का आकर्षण पहले ही समाप्त हो चुका है। इस बात की उत्सुकता अब किसी के पास नहीं है कि कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को कौन-सी टीम खरीदती है या फिर विराट कोहली, क्रिस गेल, रोहित शर्मा और शेन वाटसन जैसे धुरंधर किस टीम के पास जाते हैं।  आई.पी.एल. की रिटेनरशिप ने आई.पी.एल.-7 की नीलामी के आकर्षण को ही खत्म कर दिया। इस नीलामी से पहले दिल्ली डेयरडेविल्स को छोड़कर अन्य टीमों ने 24 खिलाडिय़ों को रिटेनरशिप नियम के तहत बरकरार रख लिया है। आई.पी.एल.-7 की स्थिति यह हो गई है कि इसमें अधिकतर टीमें अपने मुख्य खिलाडिय़ों के कारण पुरानी स्थिति में ही नजर आएंगी।