Cricket

जोहानसबर्ग: भारत के धुरंधर बल्लेबाज विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन शनिवार को मात्र चार रन से इतिहास बनाने से चूक गए। पहली पारी में शानदार 119 रन बनाने वाले विराट दूसरी पारी में 94 रन बनाकर आउट हो गए। विराट अगर चार रन और बना लेते तो वह एक मैच की दोनों पारियों में शतक बनाने वाले भारत के चौथे नंबर के पहले बल्लेबाज बन जाते।

विराट 193 गेंदों में नौ चौकों की मदद से 96 रन बनाने के बाद जेपी डुमिनी की गेंद पर विकेटकीपर ए बी डीविलियर्स के हाथों लपके गए। डुमिनी की इस गेंद को जरुरत से ज्यादा उछाल मिली और विराट ने गेंद को कट करने की कोशिश की। गेंद उनके बल्ले का मोटा किनारा लेकर डीविलियर्स के दस्तानों में समा गई। निराशा में विराट अपने बल्ले को हेलमेट पर मारते हुए पवेलियन की ओर चल पडे। वैसे एक टेस्ट की दो पारियों में शतक बनाने की उपलब्धि भारत के तीन बल्लेबाजों विजय हजारे, सुनील गावस्कर और राहुल द्रविड के नाम है।

सलामी बल्लेबाज हजारे ने 1948 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड टेस्ट की पहली पारी में 116 और दूसरी पारी में 145 रन बनाए थे। हजारे इस मैच में पहली पारी में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे थे जबकि दूसरी पारी में उन्हें चौथे नंबर पर उतारा गया था।