Sports

लुसाने: अंतर्राष्ट्रीय ओलिम्पिक समिति (आई.ओ.सी.) के अध्यक्ष थॉमस बाक ने प्रतिबंधित भारतीय ओलिम्पिक संघ (आई.ओ.ए.) के वैश्विक संस्था के आदेशों का पालन करने के निर्णय का स्वागत करते हुए संविधान संशोधन को भारत के ओलिम्पिक में वापसी के लिए सकारात्मक कदम बताया है।

आई.ओ.ए. ने रविवार देर रात अपने संविधान में संशोधन कर दागी अधिकारियों को संघ से बाहर करने का प्रस्ताव पास किया। बाक ने आई.ओ.ए. के इस कदम की प्रशंसा करते हुए अपने बयान में कहा, ‘‘आई.ओ.सी. की पारदर्शी प्रशासन की सिफारिशों को मानना एक अच्छा कदम है। यह सही दिशा में उठाया गया बड़ा कदम है।’’

अंतर्राष्ट्रीय ओलिम्पिक संस्था ने गत वर्ष आई.ओ.ए. पर चुनाव में पारदर्शिता नहीं बरतने और भ्रष्टाचार के आरोपों में 11 महीने जेल में बिता चुके ललित भनोट को महासचिव चुने जाने के बाद प्रतिबंधित कर दिया था।