Sports

एडिलेड: आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल जानसन ने आक्रामक रूख अपनाते हुए कहा है कि यदि एशेज के आगामी मैचों में मेहमान टीम इंग्लैंड की ओर से वाकयुद्ध जारी रहेगा तो उनकी टीम भी चुप नहीं बैठेगी। आस्ट्रेलिया को गाबा में पहले टेस्ट में मिली 381 रनों की जीत में 103 रन पर नौ विकेट लेने वाले ‘मैन आफ द मैच’ जानसन ने पर्थ में बुधवार को कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इन जवाबी हमलों से इंग्लैंड पर असर पड़ा है। मैंने सुना है कि उनके कोच हमसे चुप रहने और शांति बनाए रखने की उम्मीद कर रहे हैं। लेकिन यदि इंग्लैंड चुप नहीं रहेगा तो वह हमसे शांति बनाये रखने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं।’’
 
इस बीच दोनों टीमों में चल रही इस जुबानी जंग में अब उनके कोच भी मैदान में कूद पड़े हैं। आस्ट्रेलियाई कोच डैरेन लेहमेन ने इंग्लैंड के कोच एंडी फ्लावर से दूसरे टेस्ट से पहले मिलकर इस मामले के हल की पेशकश को भी ठुकरा दिया है।

फ्लावर ने ब्रिटिश मीडिया को दिये साक्षात्कार में कहा था कि पहले टेस्ट के दौरान दोनों टीमों के बीच जिस तरह का तनाव पैदा हुआ है उसे खत्म करने के लिए कुछ समाधान निकाला जाना चाहिए। हालांकि लेहमैन ने साफ किया है कि वह अपनी टीम को देखेंगे और फ्लावर को अपनी टीम का ध्यान रखना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘मेरे हिसाब से एंडी को अपनी और मुझे अपनी टीम का ध्यान रखना है। क्रिकेट के खेल में ऐसा ही होता है। मैं एंडी के साथ काफी क्रिकेट खेल चुका हूं और उनसे बात भी करता हूं। लेकिन अंत में इंग्लैंड का कंट्रोल उन्हीं के हाथ मैं है।’’

आस्ट्रेलियाई कोच ने कहा, ‘‘मैदान पर आपत्तिजनक भाषा और फब्तियां प्रतिक्रिया का हिस्सा होती हैं और इंग्लैंड को इसी के साथ
खेलना होगा। टीम के सभी खिलाड़ी परिपक्व हैं और उन्हें आपस में इसका हल निकालना होगा। हमने इंग्लैंड में इन बातों का बहुत सामना किया है और हम इससे घबराते नहीं हैं।’’