Sports

नई दिल्ली: सचिन तेंदुलकर रिटायरमैंट के बाद क्या करने जा रहे हैं इसे लेकर अभी कहीं कुछ साफ नहीं है। सचिन ने तो खुद अपनी रिटायरमैंट को लेकर कुछ भी कमैंट नहीं किया है। शायद सच्चाई यह है कि वह खुद नहीं जानते हैं कि उन्हें क्या करना है? हकीकत ये है कि सचिन जैसा खिलाड़ी कभी क्रिकेट से दूर नहीं रह सकता। 

हाल ही में वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई सुपर स्टार अमिताभ बच्चन का साक्षात्कार ले रहे थे तो उन्होंने सचिन तेंदुलकर को लेकर भी एक सवाल बिग बी से किया। राजदीप ने बच्चन से पूछा कि सचिन को रिटायर होने के बाद क्या करना चाहिए? इस पर अमिताभ का सीधा सा जवाब यह ही था कि सचिन को खेलों के लिए ही कुछ करना चाहिए। बच्चन ने कहा कि सचिन देश में खेलों के आईकन हैं और उन्हें कुछ ऐसा काम करना चाहिए कि देश में खेलों के प्रति युवाओं का रुझान बढ़े और देश को कई और सचिन मिल सकें। अमिताभ ने कहा कि सचिन न सिर्फ क्रिकेट के लिए बल्कि दूसरी खेलों के लिए भी कुछ ऐसा कर सकते हैं कि देश में खेलों के लिए और अच्छा माहौल बने। राजनीति में आने के सवाल पर बच्चन ने कहा था कि वह खुद राजनीति में नौसिखिए साबित हुए थे इसलिए इस बारे में कुछ ज्यादा नहीं कह पाएंगे। वैसे कुछ लोगों ने तो सचिन को खेल मंत्री बनाने की बात तक कह डाली थी, लेकिन उनके फैंस का मानना है कि सचिन तेंदुलकर खेल मंत्री बने बिना भी बहुत कुछ कर सकते हैं।

वैसे सचिन तेंदुलकर को सामाजिक हित के लिए काम करने का भी बहुत शौक है, पर तेंदुलकर के इस शौक से ज्यादा लोग वाकिफ नहीं हैं। तेंदुलकर समाज की भलाई के लिए जो काम करते हैं, उसका ढिंढोरा पीटने में विश्वास नहीं रखते। वैसे तेंदुलकर का रवैया कुछ ऐसा ही है कि आलोचनाओं का जवाब देने के लिए इस महान बल्लेबाज ने हमेशा अपने बल्ले का ही सहारा लिया है। तेंदुलकर के करीबी और सीएबी के एक पूर्व अधिकारी समरपाल ने बताया कि तेंदुलकर संन्यास के बाद अपना अधिक से अधिक समय अनप्रिविलेज्ड लोगों की सहायता करते हुए बिताना चाहते हैं।                 

 -तुषार शर्मा