Sports

नई दिल्ली: पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सचिन तेंदुलकर के संन्यास को अब तक का सबसे बड़ा लम्हा करार दिया है जबकि एक अन्य महान खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण का मानना है कि बंगाल क्रिकेट संघ के विदाई इंतजामों से इस दिग्गज बल्लेबाज का ध्यान भंग नहीं होगा।

यह पूछने पर कि वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट की श्रृंखला के बाद तेंदुलकर का संन्यास क्या अब तक का सबसे बड़ा संन्यास है जिसे विश्व क्रिकेट ने देखा है, गावस्कर ने कहा, ‘‘मुझे ऐसा ही लगता है। किसी भी संन्यास का स्वागत दुख के साथ होता है। 18 नवंबर के बाद तेंदुलकर कभी मैदान पर खेलते हुए नहीं दिखेगा। इसलिए इस माहौल को समझा जा सकता है। सर डान ब्रैडमैन के बाद वह सबसे बड़ा क्रिकेटर है और उसका संन्यास इन सभी के बीच सबसे बड़ा है।’’ गावस्कर ने मीडिया पर भी निशाना साधा जिसने उनके मुताबिक तेंदुलकर के संन्यस को लेकर लगातार कयास लगाए जब तक कि इस क्रिकेटर ने स्वयं इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं आप लोगों को कहता आया हूं कि आपको नहीं पता कि जब वह संन्यास ले लेगा तो आपको किस चीज की कमी खलेगी।’’ लक्ष्मण ने कहा कि लाहली में हरियाणा के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मैच में तेंदुलकर का अपनी पारी से मनोबल बढ़ेगा क्योंकि यह मुश्किल हालात में खेली गई। उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने दूसरी पारी में मैच विजेता पारी खेली लेकिन मैं जिस चीज से अधिक प्रभावित हूं वह वो समय है जो उन्होंने क्रीज पर बिताया।’’

गावस्कर और लक्ष्मण दोनों का मानना है कि तेंदुलकर की विदाई के लिए कैब के भव्य इंतजामों से इस दिग्गज बल्लेबाज का ध्यान नहीं भंग होगा जैसा कि कई लोगों का मानना है। गावस्कर और लक्ष्मण दोनों साथ ही इस बात पर भी सहमत दिखे कि रोहित शर्मा टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

लक्ष्मण ने कहा, ‘‘हां, बेशक। वह टेस्ट पदार्पण के लिए तैयार है। भारत के लिए एकदिवसीय क्रिकेट में पारी की शुरूआत करने के बाद से उसके प्रदर्शन में निरंतरता देखकर अच्छा लगा। वह ना सिर्फ मैच विजेता पारी खेल रहा है बल्कि उसने जो आक्रामकता दिखाई वह बेहतरीन है। मुझे लगता है कि वह भी अब टेस्ट मैच खेलना चाहता है।’’ गावस्कर ने कहा, ‘‘हां, वह इसके लिए तैयार है।’’