Cricket

नई दिल्ली: पूर्व क्रिकेट कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा कि वह चाहते हैं कि सचिन तेंदुलकर अपने बेजोड़ करियर का अंत मुंबई में अगले महीने अपने अंतिम टेस्ट में बड़े शतक के साथ करें। तेंदुलकर ने घोषणा की है कि वह मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में 14 नवंबर से वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रहे अपने 200वें टेस्ट में खेलने के बाद अपने 24 साल के अंतर्राष्ट्रीय करियर का अंत करेंगे।

गावस्कर ने कहा, ‘‘सचिन ने प्रथम श्रेणी में पदार्पण वानखेड़े स्टेडियम में किया था और अब वह यहां अपना अंतिम टेस्ट खेलेगा। सभी उम्मीद कर रहे हैं कि वह अपने अंतिम टेस्ट में शतक बनाएगा। लेकिन अगर दोहरा या तिहरा शतक लगे तो कैसा रहेगा। यह सोने पर सुहागा होगा।’’ भारत को पुणे में पहले एकदिवसीय मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा जब उसके बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों नाकाम रहे जबकि कल जयपुर में होने वाले दूसरे मैच में भी मेहमान टीम बेहतर टीम के रूप में शुरूआत करेगी।

गावस्कर ने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर ऑस्ट्रेलिया दूसरे मैच में थोड़ी बेहतर टीम के रूप में शुरूआत करेगा। पहली बात को यह है कि पहले मैच में बड़े अंतर से जीत से उनका मनोबल बढ़ा है जबकि दूसरा, उन्हें पता चल गया है कि भारतीय बल्लेबाजों को शार्ट पिच गेंदों के खिलाफ परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।’’ इस पूर्व बल्लेबाज ने हालांकि कहा कि भारतीय अंतिम एकादश में कोई बदलाव की जरूरत नहीं है।