Sports

नई दिल्ली: क्रिकेट के मैदान पर बेशुमार रिकार्ड बना चुके सचिन तेंदुलकर से राज्यसभा सांसदों को उम्मीद है कि अगले महीने खेल को अलविदा कहने के बाद वह संसद के उच्च सदन में भी यादगार पारी खेलेंगे। सचिन तेंदुलकर को फिल्म अभिनेत्री रेखा और व्यवसायी अनु आगा के साथ इस साल अप्रैल में राज्यसभा के लिये मनोनीत किया गया था।

संसद के मानसून सत्र के पहले दिन उन्होंने राज्यसभा में पदार्पण किया लेकिन तेलंगाना और बोडोलैंड को पृथक राज्य का दर्जा दिये जाने की मांग को लेकर कार्यवाही ज्यादा देर चल नहीं सकी थी। संसद में जितने भी मौकों पर वह आये, खामोश ही रहे। राज्यसभा में सचिन के करीब बैठने वाले वरिष्ठ पत्रकार एच के दुआ ने उम्मीद जताई कि क्रिकेट से संन्यास के बाद सचिन बतौर सांसद सक्रिय होंगे। दुआ ने कहा, ‘‘अभी तक सचिन ने राज्यसभा की कार्यवाही में कोई रूचि नहीं दिखाई है। उम्मीद है कि वह क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद बतौर सांसद भी सक्रिय होंगे। आम तौर पर वह सदन में खामोश ही नजर आये हैं।’’

सचिन के करीबी महाराष्ट्र से राज्यसभा सदस्य और 2004 से 2009 तक योजना आयोग में खेल के प्रभारी रहे भालचंद्र मूंगेकर ने कहा, ‘‘मैंने सचिन को खेल नीति का अध्ययन करने और अपने सुझाव देने की सलाह दी है। उन्होंने इसमें काफी रूचि दिखाई है और उम्मीद है कि वह संसद में क्रिकेट और खेल से जुड़े मसलों पर सक्रिय भूमिका निभायेंगे।’’ वहीं राज्यसभा में सचिन के अलावा एकमात्र खिलाड़ी पूर्व हॉकी कप्तान दिलीप टिर्की को यकीन है कि संसद में भी इस महान क्रिकेटर की पारी यादगार होगी।