Sports

पुणे: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले एक दिवसीय क्रिकेट मैच में मिली हार का ठीकरा बल्लेबाजों पर फोड़ते हुए भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि क्रीज पर जमने के बाद शाट्स चयन में सावधानी बरतनी चाहिये थी। धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘‘हमने जिस तरह से शुरूआत की, हम बड़ी साझेदारियां नहीं बना सके। बल्लेबाजों ने शाट्स का चयन भी गलत किया। एक बार क्रीज पर जमने के बाद विकेट बचाकर खेलना जरूरी था। हमने ऐसे शाट्स खेले जिनकी जरूरत नहीं थी और उसका खामियाजा भुगतना पड़ा।’’

उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय टीम में ऑस्ट्रेलिया की तरह स्विंग गेंदबाज नहीं होने के कारण विकेट से मिली उछाल का लाभ नहीं उठाया जा सका। उन्होंने कहा, ‘‘जब हमने खेलना शुरू किया तब गेंदबाजों को विकेट से स्विंग मिल रही थी जिससे हमें जूझना पड़ा। हमारे पास ऑस्ट्रेलिया की तरह स्विंग गेंदबाज नहीं है लिहाजा विकेट से मिली उछाल का फायदा हम उतना नहीं उठा सके। स्पिनरों ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन हमने काफी फालतू रन दिये।’’

धोनी ने यह भी कहा, ‘‘हमें ओस के पहलू को ध्यान में रखना होगा। एक समय मुकाबला बराबरी का था। यह जरूरी है कि बल्लेबाज जमने के बाद पावरप्ले तक संभलकर खेले।