Cricket

राजकोट: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ छह महीने घरेलू टेस्ट सीरीज में ऐतिहासिक ‘क्लीन स्वीप’ हासिल करने के बाद महेंद्र सिंह धोनी के धुरंधर गुरुवार को जब कंगारू टीम के खिलाफ एकमात्र टवंटी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच में उतरेंगे तो उनका लक्ष्य उसी सफलता को आगे ले जाना होगा। भारत ने साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट सीरीज में 4-0 से हराया था।

इस तरह ऑस्ट्रेलिया को पिछले 30 सालों पहली बार क्लीन स्वीप का सामना करना पडा था। टीम इंडिया की कोशिश अब उसी प्रदर्शन को एकमात्र ट्वंटी20 और उसके बाद होने वाली सात मैचों की वन डे सीरीज में भी जारी रखने की होगी। भारत और ऑस्ट्रेलिया का खेल के इस फटाफट स्वरूप में सात बार आमना-सामना हुआ है जिसमें चार बार जीत कंगारू टीम की झोली में गिरी है जबकि तीन बार टीम इंडिया ने बाजी मारी है। यानी भारत के पास बराबरी पर आने का यह अच्छा मौका है।

दोनों टीमों के कई खिलाडी हाल ही में चैंपियंस लीग में खेलकर आए हैं और शानदार फार्म में चल रहे हैं। इन्द्रदेव की मेहरबानी रही तो इस मैच में झन्नाटेदार मुकाबले की उम्मीद की जा सकती है। भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, शिखर धवन, रवीन्द्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, सुरेश रैना, अंबाटी रायुडू और रोहित शर्मा ने चैंपियंस लीग में हिस्सा लिया था। 

टीमें इस प्रकार हैं:
भारत: महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान) शिखर धवन, विराट कोहली, सुरेश रैना, रोहित शर्मा, युवराज सिंह, रवीन्द्र जडेजा, अंबाटी रायुडू, रविचंद्रन अश्विन, अमित मिश्रा, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, जयदेव उनादकट और आर विनय कुमार।

ऑस्ट्रेलिया: जार्ज बैली (कप्तान) शेन वाटसन, एडम वोग्स, ग्लेन मैक्सवेल, क्लाएंट मैकाय, मोइसेस हेनरिक्स, नाथन कोल्टर नाइल, जेवियर डोहर्ती, जेम्स फाकनर, आरोन फिंच, ब्रैड हैडिन, मिशेल जानसन और निक मैडिनसन।