Cricket

चेन्नई: बीसीसीआई ने आज आईपीएल के पूर्व आयुक्त ललित मोदी पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया। बोर्ड की अनुशासन समिति ने उन्हें ‘अनुशासनहीनता और अनियमितता ’ के आठ आरोपों का दोषी पाया। मोदी और बीसीसीआई के बीच दिन भर चले कानूनी दांवपेचों के बाद बोर्ड की आमसभा की विशेष बैठक बमुश्किल आधा घंटा चली जिसमें विवादों से घिरे 49 वर्षीय मोदी पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का फैसला सर्वसम्मति से लिया गया।

बोर्ड ने एक बयान में कहा, ‘‘बीसीसीआई ने आज आमसभा की विशेष बैठक में ललित मोदी को जारी किये गए कारण बताओ नोटिस पर अपनी अनुशासन समिति की रिपोर्ट पर विचार किया।’’ इसमें कहा गया, ‘‘ललित मोदी को गंभीर अनियमितताओं और अनुशासनहीनता का दोषी पाया गया लिहाजा बोर्ड अपने नियम और कानून की धारा 32 के तहत अपने अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए ललित मोदी को बीसीसीआई से निष्कासित करता है।’’

बयान में कहा गया, ‘‘उन्हें प्रशासक के तौर पर अपने सारे अधिकारों और विशेषाधिकारों से हाथ धोना होगा। वह बोर्ड के किसी सदस्य या सहयोगी सदस्य या किसी समिति में किसी पद पर काबिज नहीं हो सकते।’’ आईपीएल के जनक मोदी ने अपने बचाव की आखिरी कोशिश में बीसीसीआई के सदस्यों को पत्र लिखकर मामला न्यायालय के विचाराधीन होने तक कोई फैसला नहीं लेने का अनुरोध किया था।